Top
उत्तर प्रदेश

कांग्रेस ने शेयर किया विकास दुबे का पुराना वीडियो, भाजपा से पूछा क्या है कनेक्शन?

Janjwar Desk
10 July 2020 4:10 AM GMT
कांग्रेस ने शेयर किया विकास दुबे का पुराना वीडियो,  भाजपा से पूछा क्या है कनेक्शन?
x

जनज्वार। कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है। विकास दुबे के मारे जाने की खबर के तुरंत बाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने उसका पुराना वीडियो शेयर किया है। इसके साथ ही एक अन्य तस्वीर भी शेयर की है। इस तस्वीर में कई लोग दिखाई दे रहे हैं, इसपर लिखा है, 'अब जरा सोचिए विकास दुबे का भाजपा से क्या कनेक्शन है।' इस तस्वीर के साथ कांग्रेस ने कैप्शन में लिखा, 'विकास दुबे मारा गया। लेकिन उसके सहयोगी और सत्ता में धाक रखने वाले जय बाजपेई, प्रमोद विश्वकर्मा और पुलिस अधिकारियों की भी उसका साम्राज्य खड़ा करने बड़ी भूमिका है। क्या उनसे कोई पूछताछ होगी?'

इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी ने एक अन्य ट्वीट में विकास दुबे का पुराना वीडियो भी शेयर किया है। ये वीडियो साल 2017 का बताया जा रहा है। इसके साथ कैप्शन में लिखा है, 'विकास दुबे का 2017 का कबूलनामा वाला वीडियो देखिए। कई भाजपा नेताओं का नाम लिया है। इस बार भी सत्ता में बैठे और नाम बाहर आते। यूपी सरकार फाइल बंद करके सवालों पर ताला लगाने के मूड में है। लेकिन सवाल यह है कि सत्ता के गलियारों में विकास को किसका सरंक्षण था?'


आपको बता दें शुक्रवार सुबह विकास दुबे को कानपुर ले जाने वाली एसटीएफ के काफिले की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इस दौरान विकास दुबे ने एसटीएफ के पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस टीम ने विकास दुबे पर जवाबी फायरिंग की। इस एनकाउंटर में एक गोली विकास के सिर पर लगी और वो गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसके बाद अस्पताल ले जाते वक्त ही उसने दम तोड़ दिया, पुलिस ने उसकी मौत की अधिकारिक पुष्टि कर दी है।


विकास दुबे को मध्य प्रदेश से कानपुर लेकर आ रही उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (STF) की ​गाड़ियों में से एक कार पलट गई। पुलिस घटनास्थल पर मौजूद रही। विकास दुबे को कल उज्जैन से गिरफ्तार किया गया था। कानपुर पश्चिम एसपी ने बताया, विकास दुबे को जब लाया जा रहा था तब गाड़ी पलट गई, इसमें जो पुलिसकर्मी घायल हुए उसने उनका पिस्टल छीनने की कोशिश की। पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर कर आत्मसमर्पण कराने की कोशिश की जिसमें उसने जवाबी फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने फायरिंग की।

पुलिस कई दिनों से इस कुख्यात आरोपी की तलाश में जुटी थी। एक दिन पहले ही विकास दुबे जब उज्जैन के महाकाल मंदिर जा रहा था, तब उसे एक सुरक्षाकर्मी ने पहचान लिया। जिसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई, इसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया था। बता दें कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों से मुठभेड़ में डीएसपी देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। तभी से पुलिस इनकी तलाश में जुटी थी।

Next Story

विविध

Share it