Top
उत्तर प्रदेश

लखीमपुर खीरी में 3 दिन पहले गायब हुई लड़की का गन्ने के खेत में मिला शव, घरवालों ने बताया संदिग्ध

Janjwar Desk
12 Oct 2020 8:32 AM GMT
लखीमपुर खीरी में 3 दिन पहले गायब हुई लड़की का गन्ने के खेत में मिला शव, घरवालों ने बताया संदिग्ध
x
कोतवाली क्षेत्र के मुड़िया गांव में बीती शुक्रवार 9 अक्टूबर को एक 22 वर्षीय बालिका लापता हो गई थी। जिसका शव कल शाम 11 अक्टूबर को घर से थोड़ी दूर गन्ने के खेत से बरामद हुआ है।

जनज्वार, लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में कोतवाली क्षेत्र पसगवां अंतर्गत गांव मुड़िया चुरामणि से बीती शुक्रवार को गायब हुई युवती का शव गन्ने के खेत से मिला है। आपको बता दें कि इससे पहले भी लखीमपुर में कई युवतियां गायब हो चुकी हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के सिपेहसलार और इन्हे चलाने वाले लगातार सुधार की बातें कर रहे हैं।

गौरतलब है कि कोतवाली क्षेत्र के मुड़िया गांव में बीती शुक्रवार 9 अक्टूबर को एक 22 वर्षीय बालिका लापता हो गई थी। जिसका शव कल शाम 11 अक्टूबर को घर से थोड़ी दूर गन्ने के खेत से बरामद हुआ है। शव मिलने की सूचना पर मौके पर भारी पुलिस बल पहुँच गया। क्षेत्राधिकारी अभय प्रताप सिंह भी मय टीम के पहुँचे। हालिया सूचना ये है कि अभी तक घटना के बारे में कोई सुराग नहीं लग सका है। पुलिस लगातार पड़ताल में व्यस्त है।

पसगवां कोतवाली क्षेत्र में ग्राम मुड़िया चुरामणि रामचरण कुशवाहा पत्नी व पाँच बच्चों सहित रहते हैं। रामचरण के पाँच बच्चों में दो पुत्र तथा तीन पुत्रियां थीं। तीन पुत्रीयों में बीच की लड़की 22 वर्षीय शिल्पी तीन दिन पहले शुक्रवार 9 अक्टूबर को खेत पर गई हुई थी। यहीं से वह रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गई थी। बहुत ढूँढने पर भी जब लड़की नहीं मिली तो रामचरण ने जाकर कोतवाली में प्रार्थना पत्र दिया था। पुलिस ने भी तलाश की थी लेकिन कुछ भी हासिल नहीं हुआ। परिजन पुलिस के भरोसे रहे और पुलिस ढूँढ़-ढ़ूँढ़ कर पहले ही थक चुकी थी।

युवती का शव।

रामचरण की गायब हुई लड़की शिल्पी का शव कल रविवार 11 अक्टूबर की शाम लगभग 5 बजे गन्ने के खेत में तलाश के दौरान मिला। जो परिजनों की सक्रियता के चलते खोजा गया। परिजनों के मुताबिक शव से कुछ दूरी पर बालिका का दुपट्टा पड़ा हुआ था। शव की स्थित संदिग्ध बताई जा रही है। भाई मानसिंह ने जनज्वार से फोन पर हुई बातचीत में बताया कि बहन की हत्या की गई है। बाकी पुलिस लगी है। पहले ढ़ूँढ़ नहीं पाए जिसके चलते आज यह दिन देखना पड़ा है। भाई ने यह भी कहा कि वह कल से पत्रकारों से भी परेशान है। कल से दुई सौ पत्रकार आई चुके हैं, बतावत-बतावत परेशान हुई गेने। कित्ता बतावन यार। हियन पहिलेहे दुखी हन अब अऊर दुखी कर रहेव।

क्षेत्राधिकारी पसगवां अभय प्रताप मल ने वही बताया जो पुलिस हर घटना के बाद कहती है। उन्होंने बताया कि उक्त मामले का मुकदमा पंजीकृत है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मेडिकल रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही परिजनों द्वारा जो भी प्रार्थना पत्र मिलेगा उस आधार पर मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it