Top
उत्तर प्रदेश

नरेश टिकैत का दावा, कई भाजपा नेताओं ने फोन कर कहा दे देंगे इस्तीफा, अब चुप नहीं रहेंगे

Janjwar Desk
30 Jan 2021 3:21 AM GMT
नरेश टिकैत का दावा, कई भाजपा नेताओं ने फोन कर कहा दे देंगे इस्तीफा, अब चुप नहीं रहेंगे
x
नरेश टिकैट ने दावा किया है बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो किसानों के मुद्दे व कृषि कानूनों के खिलाफ भाजपा से बाहर निकलना चाहते हैं। उन्होंने किसान आंदोलन को और मजबूत बनाने की अपील अपने समर्थकों से की है...

जनज्वार। गाजीपुर बॉर्डर से किसान आंदोलनकारियों को हटाने की कोशिशें विफल होने के बाद आंदोलन नयी रफ्तार पकड़ चुका है। इस आंदोलन में अब राकेश टिकैत के बड़े भाई व भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत भी अब सक्रिय रूप से आंदोलन में कूद पड़े हैं। नरेश टिकैत ने कहा है कि उनके पास कई भाजपा नेताओं के फोन आए और उन्होंने कहा कि भाई साहब हम भी इस्तीफा दे रहें है, पार्टी में रहकर यूं किसानों का अपमान होते नहीं देख सकते।

नरेश टिकैत ने कहा है कि भाजपा नेताओं ने उनसे कहा कि अगर अब भी वे चुप रहे तो आने वाली पीढी उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी कमजोरी छिपाने के लिए षड्यंत्र कर रही है। लाल किला पर हमारा क्या उद्देश्य हो सकता है, क्या हम लाल किले पर इतना घिनौना काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोई किसान भूल-चूक से ट्रैक्टर लेकर लाल किले पर चला गया होगा लेकिन वह वापस आ गया था।

नरेश टिकैत ने अपने छोटे भाई राकेश टिकैट की आंखों में गुरुवार को आए आंसू को किसानों की आत्मसम्मान पर चोट बताया और कहा कि अब चाहे जो भी हो जाए हम पीछे नहीं हटेंगे और ये काले कृषि कानून वापस लेने ही पड़ेंगे।

शुक्रवार को उनके आह्वान पर मुजफ्फरनगर के जीआइसी मैदान में किसानों की महापंचायत हुई। इसके बारे में उन्होंने कहा कि बिना किसी इंतजाम के आज मुजफ्फरनगर में लाखों की संख्या में किसान पहुंचे हैं। सबका यही कहना था कि राकेश टिकैत की आंखों में आंसू हमारे आत्मसम्मान पर चोट है और अब हम बिना कानून वापस लिए नहीं मानेंगे। उन्होंने किसानों से अधिक से अधिक संख्या में गाजीपुर बाॅर्डर पहुंच कर आंदोलन को सफल बनाने का आह्वान किया है।

नरेश टिकैत ने यह भी कहा है कि 70 दिनों में 70 झूठे आरोप लगा दिए गए लेकिन किसान भाइयों की सच्चाई के कारण एक भी साबित नहीं कर सके।

Next Story

विविध

Share it