Top
उत्तर प्रदेश

मेरठ में अयोध्या राम मंदिर के नाम पर ठगी, विहिप के विरोध पर मुकदमा

Janjwar Desk
5 Sep 2020 2:26 PM GMT
मेरठ में अयोध्या राम मंदिर के नाम पर ठगी, विहिप के विरोध पर मुकदमा
x
पुलिस से छानबीन के बाद नरेन्द्र राणा नाम के आरोपी को हिरासत में लिया है, गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर लिया है....

मेरठ। अयोध्या में बनने जा रहा भारतीय जनता पार्टी की राजनीति घोषणा वाले राम मंदिर में पश्चिमी यूपी के मेरठ से सेंध लगती दिख रही है। यहां राम मंदिर के नाम से फर्जी वसूली करने के एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि गिरफ्तार व्यक्ति राम मंदिर बनवाने के नाम पर वसूली कर रहा था। आरोपी के खिलाफ थाना मेडिकल में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रहा है।

पुलिस के मुताबिक मेरठ के गाँव जिठौली का रहने वाला वाला नरेन्द्र राणा श्रीरामतीर्थ ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर के नाम चंदा वसूली कर रहा था। इस बात की सूचना जब विश्व हिंदू परिषद (VHP) के कार्यकर्ताओं को लगी तो उनने विरोध किया। मामला पुलिस तक पहुँचा।

पुलिस से छानबीन के बाद नरेन्द्र राणा नाम के आरोपी को हिरासत में लिया है। गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। तथा पूछताछ की प्रक्रिया चल रही है। पुलिस ने बताया कि आरोपी नरेन्द्र राणा ने जागृती विहार में एक ऑफिस खोल रखा था। इसी ऑफिस से रसीद काटकर वह राम मंदिर बनवाने का चंदा वसूल रहा था।

विश्व हिंदू परिषद के महानगर संयोजक अर्जुन राठी का कहना है कि कई दिनो से गढ़ रोड के पास गाँव जिठौली से अयोध्या के राम मंदिर निर्माण की एक घोषणा की गई थी। कहा गया था कि कुछ लोग अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कुछ सहयोग रगशि जमा करवा रहे हैं। जिसके बाद हमारे कार्यकर्ता दिग्विजय सिंह ने इस बात की सूचना अपने उपर के पदाधिकारियों को भेजी थी।

मेरठ सिटी के पुलिस अधीक्षक अखिलेश नारायण सिंह ने जनज्वार को बताया कि एक आध दिनो से कुछ इनपुट्स प्राप्त हो रहे थे कि कुछ लोग अयोध्या वाले राम मंदिर निर्माण के लिए फंड इक्टठा कर रहे हैं। मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। जल्द ही हम लोग अन्य आरोपियों के पकड़े जाने का प्रयास कर रहे हैं। एसपी ने बताया कि प्रदेश में यह पहला ऐसा मौका देखने में मिला है, जाँच कर आरोपियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it