उत्तर प्रदेश

Gyanvapi Mosque Controversy : BJP पर बरसे अखिलेश, कहा - चुनाव के लिए मोदी-योगी के पास है हिंदू-मुस्लिम विवादों से जुड़ा पूरा 'हेट कैलेंडर'

Janjwar Desk
18 May 2022 4:00 AM GMT
Gyanvapi Mosque Survey : BJP पर बरसे अखिलेश, कहा - चुनाव के लिए मोदी-योगी के पास है हिंदू-मुस्लिम विवादों से जुड़ा पूरा हेट कैलेंडर
x

Gyanvapi Mosque Survey : BJP पर बरसे अखिलेश, कहा - चुनाव के लिए मोदी-योगी के पास है हिंदू-मुस्लिम विवादों से जुड़ा पूरा 'हेट कैलेंडर'

Gyanvapi Mosque Survey : अखिलेश यादव का कहना है कि भाजपा के पास हिंदू-मुस्लिम विवादों से जुड़ा पूरा कैलेंडर है। इसका उपयोग भाजपा वाले महंगाई और बेरोजगारी से जनता का ध्यान भटकाने के लिए करते हैं।

Gyanvapi Mosque Controversy : पिछले कुछ दिनों से ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे विवाद ( Gyanvapi Mosque Survey dispute ) देश और दुनिया में सुर्खियों में हैं लेकिन समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने इस मसले पर पहली बार बड़ा बयान दिया है। उन्होंने भाजपा ( BJP ) पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) और सीएम योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) के पाव हिंदू-मुस्लिम विवाद ( Hindu-Muslim Controversy ) को लेकर पूरा हेट कैलेंडर ( Hate Calender ) है। इस कैलेंडर का इस्तेमाल भाजपा वाले चुनाव जीतने के लिए करते हैं। जब भी चुनाव आता है हेट कैलेंडर से दो समुदायों के बीच नफरत को बढ़ावा देने वाले मुद्दे हेट कैलेंडर से निकाले जाते हैं।

बेरोजगारी और बेरोजगारी से ध्यान भटकाने की नीति

ज्ञानवापी ​मस्जिद विवाद ( Gyanvapi Mosque dispute ) पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने कहा कि भाजपा के लोग जान बूझकर इस तरह के मुद्दे उठाते हैं जिससे कि महंगाई, बेरोजगारी और महिला सुरक्षा जैसे मुद्दों पर जनता का ध्यान न जाए। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल और खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं। महंगाई दर आजादी के बाद सबसे ज्यादा है। भाजपा की केंद्र सरकार के पास इसका कोई जवाब नहीं है। ऐसे में जान बूझकर इन मुद्दों को उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के पास इन मुद्दों का पूरा एक कैलेंडर ( Hate Calender ) जो कि चुनाव आने तक लगातार उठाए जाते हैं।

एक राष्ट्र एक व्यापारी की रणनीति भाजपा की पहचान

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सरकारी कंपनियां बेची जा रही हैं। जब भी मंदिर-मस्जिद मुद्दों पर चर्चा होती है हमें नहीं पता होता है कि देश की कौन सी संपत्ति बेची जा रही है। सभी लोग सरकार के कामकाज के बदले एक-दूसरे पर लगने वाले आरोप-प्रत्यारोपों में उलझे रहते हैं। भाजपा ने 'वन नेशन, वन राशन' का नारा दिया था, पर लगता है कि वो 'एक राष्ट्र एक व्यापारी' के नारे पर अमल कर रहे हैं।

Gyanvapi Mosque Survey Controversy : बता दें कि ज्ञानवापी मस्जिद मसला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। इस मामले में बनारस सिविल कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट का फैसला लगभग एक जैसा है। ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर मिले तथाकथित शिवलिंग को सुरक्षित रखने का आदेश दिया गया है। साथ ही मुस्लिमों को नमाज पढ़ने की इजाजत है। इस बारे में अधिवक्ता आयुक्त विशाल सिंह ने सर्वे रिपोर्ट तैयार कर कोर्ट में पेश करने के लिए दो दिन का समय दिया गया है।

Next Story

विविध