उत्तर प्रदेश

कानपुर में पुलिस पर हमला कर अपराधी को भगाने में 19 लोगों पर FIR, B'day Boy BJP जिलामंत्री की गई कुर्सी

Janjwar Desk
3 Jun 2021 9:03 AM GMT
कानपुर में पुलिस पर हमला कर अपराधी को भगाने में 19 लोगों पर FIR, Bday Boy BJP जिलामंत्री की गई कुर्सी
x

कानपुर की नौबस्ता पुलिस से झड़प करते भाजपाई नेता.जिला मंत्री के जन्मदिन में शामिल हुआ फरार अपराधी मनोज सिंह (इनसेट-4). 

बुधवार 2 जून को थाना नौबस्ता के आकर्षण गेस्ट हाउस में भाजपा नेता नारायण सिंह भदौरिया की बर्थडे पार्टी चल रही थी, जिसमें शहर के तमाम हिस्ट्रीशीटर मौजूद थे...

जनज्वार, कानपुर। सुबह जैसा हमने कहा कि 2022 चुनाव आ रहे हैं और ऐसे में होशियार राजनेता कभी उड़ते तीर नहीं लेते, जैसा कानपुर मामले में भाजपा के नेताओं ने नहीं ली। नौबस्ता में पुलिस टीम पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को भगाने के मामले में 19 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इसमें 9 नामजद तो 10 अज्ञात हैं। इसके साथ ही जिलामंत्री को पद से हाथ धोना पड़ा।

गौरतलब है कि बुधवार 2 जून को थाना नौबस्ता के आकर्षण गेस्ट हाउस में भाजपा नेता नारायण सिंह भदौरिया की बर्थडे पार्टी चल रही थी, जिसमें शहर के तमाम हिस्ट्रीशीटर मौजूद थे। इसी पार्टी में कानपुर साउत का बड़ा बदमाश मनोज सिंह भी शरीक हुआ था। जिसे हिरासत में लेने आई पुलिस टीम पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला बोल दिया था। BJP Leaders ने पुलिस पर हमला कर बर्रा थाने के हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को भगा दिया था।

यह हिस्ट्रीशीटर, बीजेपी के दक्षिण जिला मंत्री नारायण भदौरिया के जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने आया था। इस दौरान बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने हमीरपुर रोड जाम कर हंगामा काटने के साथ ही पुलिस विरोधी नारेबाजी की थी। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है। साथ ही बड़ी कार्रवाई करते हुए भाजपा ने नारायण भदौरिया को जिला मंत्री पद से हटा दिया है।

दक्षिण के बर्रा-8 का रहने वाला हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह पेशेवर अपराधी है। उसके खिलाफ बर्रा, जूही, बिठूर व नौबस्ता में हत्या का प्रयास, चोरी, लूट, रंगदारी, धमकी, मारपीट सहित 27 आपराधिक मामले दर्ज हैं। बुधवार को नौबस्ता पुलिस को सूचना मिली कि हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह हमीरपुर रोड स्थित आकर्षण गेस्ट हाउस में बीजेपी के दक्षिण जिला मंत्री नारायण भदौरिया के जन्मदिन की पार्टी में मौजूद है। जिसे सूचना के बाद पुलिस अरेस्ट करने पहुँची थी।

पुलिस टीम ने हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को दबोच लिया और जीप में बैठाकर ले जाने लगी। इससे नाराज जिला मंत्री ने अपने समर्थकों के साथ पुलिस टीम पर हमला बोलकर हिस्ट्रीशीटर को छुड़ाकर भगा दिया था। मनोज सिंह चोरी और हत्या के प्रयास के मामले में बर्रा थाने से वांछित भी चल रहा था।

Next Story

विविध

Share it