ग्राउंड रिपोर्ट

Jhansi News : पीएम के आगमन पर झांसी वालों की मन की बात - हमसे लेना है वोट और शहर को सुरक्षा के नाम पर बना दिया है 'चिड़ियाघर'

Janjwar Desk
18 Nov 2021 10:21 AM GMT
Pm modi jhansi arrival
x

पीएम मोदी के आगमन पर किले तब्दील झांसी। चप्पे-चप्पे पर वर्दी वालों का पहरा। 

Jhansi News : प्रधानमंत्री मोदी के झांसी आगमन पर जो खुशियां मिलनी चाहिए थीं, वह नहीं मिल रही हैं। उनके आने से सारे ट्रैफिक जाम कर दिए। प्रधानमंत्री को हम लोगों से वोट लेना है या नहीं लेना है।

झांसी से लक्ष्मी नारायण शर्मा की रिपोर्ट

Jhansi News : पीएम नरेंद्र मोदी ( PM narendra Modi ) 19 नवंबर को झाँसी आ रहे हैं। उनके आगमन से पहले कई रूटों पर ट्रैफिक डायवर्ट रहेगा। इतना ही नहीं, डायवर्जन पर अमल के लिए पुलिस और प्रशासन के लोग पिछले कई दिनों से लगातार प्रैक्टिस कर रहा है। ट्रैफिक का जिस बड़े पैमाने पर डायवर्जन किया गया है, उससे आम लोगों का आवागमन प्रभावित हो रहा है। लोगों की परेशानियां भी बढ़ी हैं। जनज्वार ने लोगों से बातचीत कर इस विषय पर उनकी राय जानी।

घर से निकलना मुश्किल

रघुराज शर्मा कहते हैं कि पिछले एक हफ्ते से झांसी ( Jhansi arrival ) के सारे रुट डायवर्ट कर दिए गए हैं। परसों इलाइट से कचहरी आने में सवा घंटे का समय लगा। ट्रैफिक रुका था। हम गलियों से निकले। झांसी की जनता पीएम का स्वागत करना चाहती है लेकिन जनता के मन में इतना खौफ पैदा कर दिया कि उसे घर से निकलने में परेशानी हो रही है।

झांसी में एक ही रूट है, उसे भी बंद कर दिया है

रशीद कहते हैं कि कल स्कूल के बच्चों की गाडियां ट्रैफिक में फंसी रहीं। पूरा झांसी जाम कर दिया। कहीं से निकलने नहीं दे रहे थे। ये तो कोशिश कर रहे हैं कि घर से निकले ही न आदमी। झांसी में एक ही रुट है और इसी को बंद कर दिया है।

पीएम के आगमन से सड़कें चमकने लगी हैं, हम तो चाहते हैं रोज आएं


मुकेश वर्मा कहते हैं कि झांसी के लोग तो ट्रैफिक की समस्या झेलते आ रहे हैं लेकिन यह हमारा सौभाग्य है कि रानी लक्ष्मीबाई की जयंती पर प्रधानमंत्री यहां आ रहे हैं। उनके आने से सड़कें चमक रही हैं। आज तक कोई सरकार ऐसा नहीं कर पाई है।

इस बार नहीं मना पाएंगे लक्ष्मी बाई का जन्मदिन

गौरी शंकर विदुआ कहते हैं कि कचहरी पर किसानों का आंदोलन चल रहा है। परसों मुझे कचहरी से घर जाना था, खाना खाने के लिए। गाड़ी में पेट्रोल कम था। हमने सोचा रेड लाइट पर पेट्रोल डलवा लें। यहां से निकलें तो जेल चौराहे पर रोक दिया गया। उसके निकट का दूसरा रास्ता भी ब्लॉक था। हमें वहां से लौटाया तो हम सदर गए। सदर से मानिक चौक की ओर जाने लगे तो मिनर्वा पर रोक दिया। तब तक हमारी गाड़ी की पेट्रोल खत्म हो गई। हमने डेढ़ किलोमीटर मोटरसाइकिल घसीटी। मैं दो घंटे बाद अपने घर पठौरिया पहुंच पाया। हर जगह बल्लियां लगा दी गई है। किसी की तबियत खराब हो जाए, किसी को पेपर देने जाना हो, रिजर्वेशन कराने जाना हो। बस स्टैंड से बहुत से लोग स्टेशन पैदल जा रहे हैं। उनके साथ सामान भी है, बच्चे भी हैं। हम तो हर साल की तरह महारानी लक्ष्मीबाई का जन्मदिन भी नहीं मना पा रहे हैं।

पीएम को वोट लेना है या नहीं

राम शिरोमणि कहते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी के झांसी आगमन पर जो खुशियां मिलनी चाहिए थीं, वह नहीं मिल रही हैं। उनके आने से सारे ट्रैफिक जाम कर दिए। प्रधानमंत्री को हम लोगों से वोट लेना है या नहीं लेना है। हम ही लोग वोटर हैं और हमें ही परेशान होना पड़ रहा है। हम कैसे वोट देंगे। रानी की जयंती पर पीएम का स्वागत है लेकिन जिस तरह जनता को परेशान किया जा रहा है तो वे जनता को परेशान करने झाँसी आ रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it