Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर इनकाउंटर मामले में थानेदार विनय तिवारी व बीट इंचार्ज केके शर्मा गिरफ्तार, दोनों हैं पुलिस के गद्दार

Janjwar Desk
8 July 2020 12:22 PM GMT
कानपुर इनकाउंटर मामले में थानेदार विनय तिवारी व बीट इंचार्ज केके शर्मा गिरफ्तार, दोनों हैं पुलिस के गद्दार
x

Vinay Tiwari & KK Sharma.

पुलिस जांच में यह पक्का हो गया कि विनय तिवारी व केके शर्मा ने अपने साथियों के साथ गद्दारी की थी और गैंगस्टर विकास दुबे के लिए वे पुलिस में उसके जासूस थे...

जनज्वार। कानपुर इनकाउंटर मामले में जांच व पूछताछ के बाद आज दो पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कानपुर के एसएसपी दिनेश प्रभु ने आज कहा कि चौबेपुर पुलिस थाने के थानाध्यक्ष विनय तिवारी व बीट इंचार्ज केके शर्मा ने ही गैंगस्टर विकास दुबे को इस बात की सूचना दी कि उसके घर पर पुलिस की टीम रेड करने जा रही है। इसके कारण ही वह अलर्ट हो गया और उसने पुलिस पर हमले की योनजा बनायी जिसमें आठ पुलिस वालों की मौत हो गई।

वहीं, कानपुर रेंज के आइजी मोहित अग्रवाल ने कहा है कि चौबेपुर थाने का एसएचओ विनयी तिवारी व बीट इंचार्ज केके शर्मा गिरफ्तार कर लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि वे दोनों भी दो-तीन जुलाई की मध्यरात्रि बिकरू गांव में हुए इनकाउंटर के दौरान मौजूद थे, लेकिन वे गोलीबारी के दौरान आपरेशन स्थल से किनारे हो गए थे।


कानपुर इनकाउंटर मामले में अबतक चार पुलिस कर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है और वहां के पुराने कर्मियों की जगह नए कर्मियों की तैनाती की जा रही है। एक दिन पहले ही 10 नए पुलिसकर्मी वहां भेजे गए हैं।

वहीं, कानुपर के डीएम ब्रह्मादेव राम तिवारी ने आज कहा कि एडिशन डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में एक टीम बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले की विभिन्न एंगल से जांच करेगी।

यूपी एसटीएफ विकास दुबे की उत्तरप्रदेश, हरियाणा व दिल्ली-एनसीआर व अन्य जगहों पर तलाश कर रही है। विकास दुबे का करीबी व भतीजा अमर दुबे बुधवार की सुबह पुलिस के द्वारा मारा भी गया है।

वहीं, विकास दुबे फरीदाबाद में पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गया है।

फरीदाबाद में पु लोलिस ने तीनगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है।



Next Story

विविध

Share it