उत्तर प्रदेश

Mahant Narendra Giri : महंत नरेंद्र गिरी की मौत के एक साल बाद खुला कमरा, 50 किलो सोना, 3 करोड़ कैश और 9 क्विंटल देशी घी बरामद

Janjwar Desk
16 Sep 2022 6:30 AM GMT
Mahant Narendra Giri : महंत नरेंद्र गिरी की मौत के एक साल बाद खुला कमरा, 50 किलो सोना, 3 करोड़ कैश और 9 क्विंटल देशी घी बरामद
x

Mahant Narendra Giri : महंत नरेंद्र गिरी की मौत के एक साल बाद खुला कमरा, 50 किलो सोना, 3 करोड़ कैश और 9 क्विंटल देशी घी बरामद

Prayagraj News : महंत नरेंद्र गिरि की मौत के एक साल पूरे हो गए हैं। वे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष थे। हालांकि, महंत की मौत कैसे हुई, अभी तक इसकी असलियत सामने नहीं आई है।

Prayagraj News : महंत नरेंद्र गिरि की मौत के एक साल पूरे हो गए हैं। वे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष थे। हालांकि, महंत की मौत कैसे हुई, अभी तक इसकी असलियत सामने नहीं आई है। गुरुवार को सीबीआई की टीम जांच के लिए प्रयागराज के अल्लापुर के मठ बाघंबरी गद्दी पहुंची। जिस कमरे में महंत की लाश मिली थी, सीबीआई ने उस कमरे का ताला खुलवाया और जांच की।

सूत्रों के मुताबिक महंत के कमरे से 3 करोड़ रुपए कैश और 50 किलोग्राम सोना, हनुमान जी का सोने का मुकुट, कड़ा-बाजूबंद मिला है। ये सब एक लोहे की अलमारी में बंद थे। इसके अलावा करोड़ों की संपत्ति के रजिस्ट्री पेपर और 9 क्विंटल देशी घी भी मिला। सुबह साढ़े 11 बजे से सीबीआई उनके कमरे में डेरा डाले रही। सीबीआई के जांच अधिकारी एडिशनल एसपी केएस नेगी और सीबीआई इंस्पेक्टर की मौजूदगी में कमरे का ताला खाेला गया। इस दौरान एसपी सिटी समेत कई अधिकारी भी फोर्स के साथ मौजूद रहे।

इस तरह हुई थी मौत

महंत नरेंद्र गिरि का शव 20 सितंबर 2021 को मठ के एक कमरे में फंदे से लटकता मिला था। जांच सीबीआई को सौंपी गई। इस मामले में महंत नरेंद्र के शिष्य रहे आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को गिरफ्तार किया गया था। आद्या और संदीप नैनी जेल में बंद हैं, जबकि आनंद गिरि चित्रकूट जेल में बंद हैं। आनंद गिरी कई बार कोर्ट में जमानत के लिए याचिका भी दाखिल कर चुके हैं, लेकिन उन्हें जमानत नहीं मिली। इधर यूपी पुलिस ने गिरि के कमरे को सील कर दिया था। कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला था।

कमरा खोलने के लिए लगाई थी अर्जी

बाघंबरी मठ के मौजूदा महंत बलवीर गिरि ने कमरा खुलवाने के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई थी। बलवीर ने कोर्ट से अपील की थी कि मठ में पहली मंजिल के उस कमरे को खोलने की अनुमति दी जाए। इसके बाद सीबीआई गुरुवार को बाघंबरी मठ पहुंची। गुरुवार को सुबह साढ़े 11 बजे से शाम 7 बजे तक सीबीआई ने हर सामान की वीडियोग्राफी कराई। हालांकि इस संबंध में सीबीआई के अधिकारियों ने मीडिया से बातचीत करने से मना कर दिया।

Next Story

विविध