Top
उत्तर प्रदेश

यूपी : राजभर ने अब आजाद से की मुलाकात, पिछड़ा-मुस्लिम-दलित आधार की कवायद

Janjwar Desk
10 Jan 2021 3:03 AM GMT
यूपी : राजभर ने अब आजाद से की मुलाकात, पिछड़ा-मुस्लिम-दलित आधार की कवायद
x

ओमप्रकाश राजभर व चंद्रशेखर आजाद गले मिलते हुए।

ओमप्रकाश राजभर उत्तरप्रदेश में पिछड़ा-मुस्लिम-दलित आधार तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए वे क्रमिक रूप से इन वर्गाें से आने वाले प्रमुख नेताओं से अगले विधानसभा चुनाव के लिए लगातार मुलाकात कर रहे हैं...

जनज्वार। उत्तरप्रदेश में एक साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए खेमेबंदी और छवि निर्माण की प्रक्रिया तेज हो गयी है। मुख्य विपक्ष्ज्ञ समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष जहां धर्म गुरुओं और मंदिरों में दर्शन कर साॅफ्ट हिंदुत्व की राह पर आगे बढ रहे हैं, वहीं विभिन्न छोटे और अलग-अलग क्षेत्रों में प्रभाव वाले राजनीतिक धड़े एक व्यापाक सामाजिक आधार वाला गठबंधन तैयार कर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा को टक्कर देने की कोशिश कर रहे हैं।

इसी क्रम में शनिवार को लखनऊ में आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद की मुलाकात सुहेलदेव समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर से हुई। ओम प्रकाश राजभर ने प्रदेश में आगामी चुनाव के लिए खुद की अगुवाई वाला भागीदारी संकल्प मोर्चा तैयार किया है। इसमें असदु्द्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली एआइएमआइएम और कुछ छोटे राजनीतिक धड़े पहले ही शामिल हो गए हैं। अब इसमें चंद्रशेखर आजाद की पार्टी को शामिल करने का प्रयास किया जा रहा है।

चंद्रेशखर आजाद ने हाल के वर्षाें में अपनी संघर्षशील छवि के कारण पश्चिम उत्तरप्रदेश में दलित वर्ग के बीच खासी पैठ बनायी है और वे मायावती की अगुवाई वाली बसपा के लिए चुनौती बन गए हैं। वहीं, ओवैसी ने पिछले साल के अंत में संपन्न हुए बिहार विधानसभा चुनाव में बिहार के सीमांचल इलाके में पांच सीटें जीतीं और अब वे अप्रैल-मई में होने जा रहे बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए सक्रिय हैं। अगर वहां भी उन्हें सफलता मिलती है तो उत्तरप्रदेश के मुसलिमों के बीच में उनकी स्वीकार्यता व पैठ बनेगी।

ऐसे में यूपी में राजभर-ओवैसी-आजाद अति पिछड़ों-मुस्लिमों व दलितों का एक सामाजिक समीकरण तैयार कर चुनाव में कूद सकते हैं। राजभर ने आजाद से मुलाकात के बाद ट्वीट भाी किया कि आज लखनऊ में आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद से शिष्टाचार मुलाकात की और आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर उनसे चर्चा की।

भागीदारी संकल्प मोर्चा में ये दल अबतक हुए हैं शामिल

ओमप्रकाश राजभर की अगुवाई वाले भागीदारी संकल्प मोर्चा में उनकी खुद की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अलावा बाबू सिंह कुशवाहा की अधिकार पार्टी, कृष्णा पटेल का अपना दल - के, प्रेमचंद प्रजापति की भारतीय वंचित समाज पार्टी, बाबू राम पाल की राष्ट्र उदय पार्टी, अनिल चौहान की जनता क्रांति पार्टी - आर शामिल हुए हैं। राजभर ने अपने मोर्चे में अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव को भी शामिल करने के लिए मुलाकात की थी। हालांकि उनको लेकर अभी कुछ पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि वे छोटे दलों के साथ एक राष्ट्रीय दल के साथ भी गठबंधन करने की बात कह चुके हैं। पर, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद की पार्टी के उस गठबंधन में शामिल होने की संभावना मजबूत हो गयी है।

Next Story

विविध

Share it