Top
उत्तर प्रदेश

यूपी में लव-जिहाद पर शुरू हुई SIT जांच, पुलिस तलाश रही ISI लिंक

Janjwar Desk
4 Sep 2020 9:41 AM GMT
यूपी में लव-जिहाद पर शुरू हुई SIT जांच, पुलिस तलाश रही ISI लिंक
x
उत्तर प्रदेश के मेरठ, कानपुर और लखीमपुर खीरी में लड़कियों के साथ धोखाधड़ी कर प्रेम जाल में फंसाने की घटनाएं सामने आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सख्ती दिखाई है, लव जेहाद के मामलों में मेरठ और लखीमपुर में लड़कियों की हत्या तक हो चुकी है....

मनीष दुबे की रिपोर्ट

कानपुर। उत्तर प्रदेश के मेरठ, लखीमपुर खीरी के बाद अब कानपुर में लव जिहाद का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। तमाम हिंदू संगठन मामले में बवाल, फसाद तथा हो हल्ला मचा रहे हैं। बर्रा की शालिनी यादव से हुए खुलासे के बाद गोविंदनगर में हिंदू गार्ड की बेटी का मसला हो या फिर चकेरी के कच्ची बस्ती में मुस्लिम युवक से हिंदू युवती निकाह मामला हो हिंदू संगठनो का गुस्सा चरम पर है। अभी तक गोविंदनगर से लगाकर पनकी तक धर्म परिवर्तन के नौ मामले सामने आ चुके हैं।

गौरतलब है कि बर्रा थाना क्षेत्र की हिंदू युवती परीक्षा देने के बहाने घर से निकली और जूही निवासी मोहम्मद फैजल से अंतर्रजातीय प्रेम विवाह कर लिया था। इस निकाह के बाद दोनो के घरों में खूब बवाल हुआ जो अब भी जारी है। 24 अगस्त को शालिनी से तंजीम फातिमा बन चुकी युवती ने एक वीडियो जारी कर अपनी मर्जी से निकाह करने व परिजनो से जान बचाए जाने की गुहार लगाई थी। इस मामले के बाद थाना गोविंदनगर निवासी सिक्योरिटी गार्ड की बेटी 2 सप्ताह पहले घर से गायब हो गई। यह गायब युवती जब मिली तो जाजमऊ निवासी आरिफ शाह से निकाह कर धर्म व जाति बदल चुकी थी।

शहर में चकेरी के पटेल नगर में एक नाबालिग युवती का घर्म परिवर्तन कराकर निकाह कर लेने का मामला सामने आया है। किशोरी ने जब यह बात अपने भाई को बताई तो भाई ने बजरंग दल का सहारा लेकर बुधवार 3 अगस्त थाने में तहरीर दी। भाई का कहना है कि एक युवक उसकी 16 वर्षीय बहन को बहला-फुसलाकर साथ ले गया था। पहले तो उसका जबरन धर्म परिवर्तन कराया बाद में फर्जी कागज लगाकर निकाह कर लिया। साथ ही भाई ने कहा कि उसके घर में न होने के कारण कोई विरोध नहीं कर पाया।

गोविंदनगर में रहने वाली लड़की के मुताबिक जाजमऊ के आरिफ ने उससे निकाह कर लिया था। आरिफ उसे रूमा की सलेमपुर मस्जिद ले गया जहाँ एक मौलवी ने वशीकरण के लिए उसे ताबीज पहनाया और कागज में कुछ उर्दू में लिखकर पानी में भिगोया तथा उसे पी जाने के लिए दिया गया। लड़की की मां ने उसके गले में पड़े ताबीज को काटा। एसपी साउथ दीपक भूकर के पास पहुंचे मामले में एसपी ने कहा परिजनो की तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

हिंदूवादी समर्थक मोनू योगी ने लव जिहाद के मसले पर 'जनज्वार' को बताया कि यह जो कुछ भी हो रहा है बहुत गलत हो रहा है। यह बहुत गंदी प्रक्रिया है बल्कि मै कहूँगा ये हमारे समाज पर धब्बा है। जो भी युवतियां मुस्लिम समुदाय के लड़कों से बातचीत या व्यवहार रखती हैं तत्काल बंद कर देने की जरूरत है। जादू-टोना, वशीकरण करवाकर मुस्लिम समुदाय हिंदू युवतियों से निकाह कर रहा है। योगी आगे कहते हैं कि मुस्लिम मौलवी लड़की को डरा-धमकाकर तंत्र-मंत्र से अपने वश में कर लेते है। इनके पास काला जादू होता है, प्रेम की की ताकत इनके पास है ही नहीं। ये सिर्फ टोने-टोटके और वशीकरण करते हैं।

वहीं एडवोकेट प्रशांत अग्निहोत्री इसे हिंदू संगठनो का राजनैतिक मुद्दा बताते हैं। अधिवक्ता का कहना है कि चुनाव आ रहे हैं, धर्म का ध्रुवीकरण चालू हो चुका है। ये अचानक से जो जरूरत से ज्यादा मामले निकलकर सामने आ रहे हैं, प्रशासन इसे पकड़ नहीं पा रहा है। इसके पीछे जिन-जिन लोगों का हाथ है फिर भले ही वो 2022 की पटकथा ही क्यों ना लिखी जा रही हो, प्रशासन को ध्यान देते हुए इस मसले को सुलझाना चाहिए और जो लोग इसमे दोषी पाए जाएं सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए।

लव-जिहाद और धर्म परिवर्तन पर बरिष्ठ पत्रकार बृजेश शर्मा 'जनज्वार' से बात करते हुए मानते हैं कि सबसे पहले जो यह लव-जिहाद का मामला तूल पकड़ रहा है। ये बजरंग दल या जो भी हिंदूवादी संगठन हैं विवाद खड़ा कर रहे हैं। सबसे पहले यह देखिये कि इस तरह का मामला किसी अपराध की श्रेणी में नहीं आता है, बस लोगों की मानसिकता है धर्म की। ये हिंदू मुस्लिम विवाद खड़ा करने का मुद्दा है। इसका पहला मामला मुंबई में हुआ था जिस पर एक फिल्म भी बन चुकी है। और जब शालिनी का मामला हुआ था बर्रा-6 में उसके बाद अब तक 12 मामले सामने आ चुके हैं। तब से अब तक खूफिया तंत्र इतनी जाँच एजेंसियां कर क्या रही हैं। मामले की जाँच चल रही है चलने दीजिेए लेकिन इस मामले में तब तक बजरंग दल इत्यादि के विवाद का मुद्दा नहीं बनाना चाहिए।

फिलहाल मामले में एसआईटी अपनी जांच शुरू कर चुकी है। कथित लव जिहाद के एक के बाद एक मामले सामने आने के बाद यहाँ से पकड़े गए आईएसआई एजेंटों का दुबारा इतिहास खंगाल रही है। साथ ही पुलिस यह भी जानने की कोशिश करेगी की उन पकड़े गे लोगों ने यहाँ कुछ ऐसे गिरोह तो नहीं तैयार कर दिे जो लड़कियों को बहला-फुसलाकर अपने जाल में फंसाकर धर्मपरिवर्तन करवा रहे हैं। आईजी जोन मोहित अग्रवाल ने एसआईटी को सारी जानकारी जुटाने के निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि 2007-8 में पुलिस ने बिठूर से आईएसआई एजेंट वकास और इम्तियाज को गिरफ्तार किया था। इनके जेल में रहने के दौरान किस-किस ने इनसे मुलाकात की, मुलाकात करने वाले किस संगठन से संबन्ध रखते हैं इन्हे फंडिंग करने में किसका हाथ है तथा इस समय यह लोग क्या कर रहे हैं। ये ऐसे तमाम सवाल हैं जिनका जवाब पुलिस सहित एसआईटी तलाश रही है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ, कानपुर और लखीमपुर खीरी में लड़कियों के साथ धोखाधड़ी कर प्रेम जाल में फंसाने की घटनाएं सामने आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सख्ती दिखाई है। लव जिहाद के मामलों में मेरठ और लखीमपुर में लड़कियों की हत्या तक हो चुकी है। ऐसी घटनाओं को देखते हुए योगी सरकार अब सख्त कदम उठाने पर विचार कर रही है। राज्य सरकार धर्मांतरण पर लगाम लगाने की तैयारी में है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं जिससे ऐसी घटनाओं पर रोक लगाई जा सके।

Next Story
Share it