Top
उत्तर प्रदेश

गैंगस्टर विकास दुबे के दो और करीबी मारे गए, कानपुर में प्रभात तो इटावा में रणबीर शुक्ला को मार गिराया

Janjwar Desk
9 July 2020 3:11 AM GMT
गैंगस्टर विकास दुबे के दो और करीबी मारे गए, कानपुर में प्रभात तो इटावा में रणबीर शुक्ला को मार गिराया
x

जनज्वार। कानपुर शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे के बेहद करीबी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है, बता दें कि प्रभात मिश्रा को पुलिस ने फरीदाबाद के होटल से गिरफ्तार किया था, पुलिस का कहना है कि प्रभात हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था इस दौरान पुलिस को उसके ऊपर गोलियां चलानी पड़ीं। वहीं विकास दुबे का एक दूसरा साथी रणवीर उर्फ बऊअन भी इटावा में हुई मुठभेड़ में मारा गया है, बता दें कि रणवीर उर्फ बम्मन शुक्ला के ऊपर 50000 का इनाम भी घोषित था।

गौरतलब है कि मोस्‍टवांटेंड गैंगस्‍टर विकास दुबे को खोजने में पूरा पुलिस महकमा जुटा हुआ है। मालूम हो कि बुधवार को फरीदाबाद में विकास दुबे के होने का दावा किया गया था। एक सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा था कि वह ऑटो में सवार होकर जा रहा है। विकास दुबे के नोएडा में फिल्म सिटी में सरेंडर करने को लेकर दिनभर सूचना चलती रही। इन सूचना को लेकर फिल्म सिटी के चप्पे-चप्पे पर सुबह से लेकर देर रात तक भारी पुलिस बल तैनात रहा।

मालूम हो कि विकास दुबे पिछले 7 दिनों से फरार है, यूपी एसटीएफ और पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद भी वो अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर है, जुर्म की दुनिया का खौफनाक नाम विकास दुबे वही अपराधी है, जिसने साल 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या की थी, हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ 60 से ज्यादा केस दर्ज हैं।

आपको बता दें कि कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में को कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों से मुठभेड़ में डीएसपी देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।

Next Story

विविध

Share it