उत्तर प्रदेश

UP Assembly Session 2022: ऐतिहासिक होगा आज यूपी विधानमंडल सत्र, पहली दफा दोनों सदनों में गूंजेगी सिर्फ महिलाओं की आवाज

Janjwar Desk
22 Sep 2022 6:30 AM GMT
UP Assembly Session 2022: ऐतिहासिक होगा आज यूपी विधानमंडल सत्र, पहली दफा दोनों सदनों में गूंजेगी सिर्फ महिलाओं की आवाज
x

UP Assembly Session 2022: ऐतिहासिक होगा आज यूपी विधानमंडल सत्र, पहली दफा दोनों सदनों में गूंजेगी सिर्फ महिलाओं की आवाज

UP Assembly Session 2022: उत्तर प्रदेश विधानमंडल में आज का दिन एतिहासिक होने जा रहा है। क्योंकि आज सदन में कार्यवाही का पूरा दिन महिलाओं के नाम रहेगा। आज पूरे दिन सिर्फ महिलाओं से संबंधित मुद्दों, जिनमें- स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक स्थिति तथा लैंगिक भेदभाव जैसे मुद्दे उठेंगे।

UP Vidhansabha Session : उत्तर प्रदेश विधानमंडल में आज का दिन एतिहासिक होने जा रहा है। क्योंकि आज सदन में कार्यवाही का पूरा दिन महिलाओं के नाम रहेगा। आज पूरे दिन सिर्फ महिलाओं से संबंधित मुद्दों, जिनमें- स्वास्थ्य, शिक्षा, सामाजिक स्थिति तथा लैंगिक भेदभाव जैसे मुद्दे उठेंगे। जिसमें आज सिर्फ महिलाओं की ही आवाज सुनाई देगी। कहा जा रहा है कि यह पहली बार है, जब देश की किसी विधानसभा में इस तरह की पहल की जा रही है।

बीती 19 सितंबर से शुरू हुए मॉनसून सत्र की शुरूआत में ही सभी दलों की महिला विधायकों से इस दिन को लेकर चर्चा की गई थी। ताकि सत्ता पक्ष के साथ विपक्ष भी चर्चा में शामिल हो सके। इस चर्चा में प्रत्येक महिला विधायक को कम से कम 3 मिनट और अधिक से अधिक 8 मिनट तक बोलने का समय दिया जाएगा। जिसमें महिला विधायकों को अपने तय मुद्दों पर सदन में बात रखनी होगी।

यूपी विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना के मुताबिक, 'मेरी जानकारी के अनुसार ये पहला मौका है, जब कोई विधानसभा इस तरह की पहल कर रही है। 47 महिला विधायक हैं। मैं चाहता हूँ कि सभी महिलाओं की सामाजिक भागीदारी, राजनीति में भागीदारी, लैंगिक समानता पर बोलें कि उनको क्या समस्यायें आती हैं? समस्याओं को कैसे अड्रेस किया जा सकता है। सभी इस पर बोलें और अपना मशविरा दें।'

योगी का महिला विधायकों को पत्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी महिला विधायकों को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने लिखा कि, 'मिशन शक्ति के अंतर्गत केंद्र और राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन से देश और दुनिया में प्रदेश का परसेप्शन बदला है। इसके साथ ही मिशन शक्ति अभियान की उपलब्धियों से जुड़ी सामग्री भी महिला विधायकों को भेजी गई हैं।'

जाहिर सी बात है जहां सत्ता पक्ष की विधायक केंद्रीय और राज्य की योजनाओं से महिलाओं को होने वाले लाभ पर अपनी बात रख सकती हैं। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष की महिला विधायकों की नजर महिला सुरक्षा और महिलाओं के खिलाफ अपराधों पर होगी। पहली बार इस तरह का माहौल और मौका होने की वजह से इसकी तैयारी की जा रही है।

विजिटर्स गैलरी में नजर आएंगी सिर्फ महिलाएं

उच्च शिक्षा राज्यमंत्री और शाहाबाद से विधायक रजनी तिवारी कहती हैं, कई महिला विधायक बोलती हैं और अपने क्षेत्र की बात को भी रखती हैं, लेकिन इस पहल से जो महिला विधायक सदन में पहली बार चुनकर आई हैं उन्हें भी बोलने का मौका मिलेगा। कई मुद्दों पर सार्थक चर्चा होगी।'

खास बात यह है कि महिलाओं को ही इस दिन विजिटर्स गैलरी में बैठकर सदन की कार्यवाही देखने का मौका मिलेगा। इसके लिए खासतौर पर डॉक्टर, शिक्षिका और स्वयंसेवी संस्थाओं से जुड़ी महिलाओं को आमंत्रित किया गया है। जो यहां बैठकर सदन की इस पहल को करीब से देखेंगी।

Next Story

विविध