Top
उत्तर प्रदेश

अपनी ही जाति में शादी करने जा रहे युवा जोड़े को मार डाला परिजनों ने, UP के संगठनों ने की अलग कानून की मांग

Janjwar Desk
7 Aug 2020 12:45 PM GMT
अपनी ही जाति में शादी करने जा रहे युवा जोड़े को मार डाला परिजनों ने, UP के संगठनों ने की अलग कानून की मांग
x

 photo : social media

कानून का राज होने का दावा करनेवाले उत्तरप्रदेश में एक प्रेमी युगल को दिनदहाड़े जलाकर मार दिया गया, ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कई संगठनों ने अलग से कानून बनाने की मांग की है...

जनज्वार। कानून का राज होने का दावा करने वाले उत्तरप्रदेश के बांदा जिले में दिन-दहाड़े प्रेमी युगल को यातना देने के बाद जलाकर मार दिया गया। इसे लेकर लेकर कई संगठनों ने राज्यपाल को पत्र लिखा है। पत्र में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए अलग से कठोर कानून बनाने की मांग की गई है।

AIPWA (अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोशिएसन) की कृष्णा अधिकारी व मीणा सिंह, AIDWA की सुमन सिंह व मधु गर्ग तथा NAPM की अरुंधति गुरु, महिला फेडरेशन की आशा मिश्रा व कांति मिश्रा ने यह पत्र भेजा है।

पत्र में कहा गया है 'उत्तरप्रदेश के बांदा जनपद के करछा गांव में युवक-युवती की बर्बर व नृशंस हत्या से हम बहुत विचलित हैं। इन्हें यातना देकर दिन-दहाड़े जलाए जाने की अमानुषिक घटना समाज के लिए कलंक है और पितृसत्ता की बर्बरता का घृणित नमूना है। इसने भाजपा राज में कानून-व्यवस्था की कलई खोलकर रख दिया है, जाहिर है कानून का राज का खौफ खत्म हो गया है। हम केंद्रीय कानून के साथ उत्तरप्रदेश में इज्जत के नाम पर हो रही हत्याओं के लिए एक अलग कानून की मांग करते हैं जैसे राजस्थान सरकार ने बनाया है।'

बताया जाता है कि 5 अगस्त को बुन्देलखण्ड के जनपद बांदा के करछा गांव में प्रेमी युगल को रस्सी से बांधकर यातनाएं दी गई थीं। यातनाओं के कारण उनकी चीख-पुकार घर के बाहर तक गूंजती रही लेकिन उन्हें बचाने का कोई साहस नहीं दिखा पाया। जब उन्हें कमरे में बंद कर जला दिया गया, तब जाकर गांव के लोग उन्हें बचाने दौड़े, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। घटना में भोला आरख (25) और प्रियंका (17) की मौत हो गई थी।


मृतक के परिजनों ने पुलिस को बताया है कि भोला और प्रियंका दोनों स्वजातीय थे। प्रेमी भोला सूरत में रहकर मजदूरी करता था। लॉकडाउन के कारण गांव लौट आया था और अपनी प्रेमिका से शादी करना चाहता था, लेकिन लड़की वाले इस शादी के खिलाफ थे।

इस संबन्ध में बांदा पुलिस का कहना है कि आशाराम के पुत्र भोला और हुकुमा की पुत्री प्रियंका के बीच प्रेम संबन्ध था। 5 अगस्त की संध्या सूचना मिली कि एक युवक-युवती को कमरे में बंद कर जला दिया गया है। पुलिस वहां गई और युवक-युवती को अस्पताल भिजवाया। दोनों की मृत्यु हो चुकी है। मृतक भोला के भाई फूलचन्द्र के बयान पर लड़की के परिजनों और रिश्तेदारों सहित 9 लोगों के विरुद्ध FIR दर्ज की गई है, इनमें से 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Next Story

विविध

Share it