हाशिये का समाज

Rudrapur Crime News: नाबालिग बेटी के साथ रेप और हत्या मामले में नहीं मिला इंसाफ, आजाद घूम रहा आरोपी

Janjwar Desk
8 Jan 2022 4:18 PM GMT
Rudrapur Crime News: नाबालिग बेटी के साथ रेप और हत्या मामले में नहीं मिला इंसाफ, आजाद घूम रहा आरोपी
x

दरिंदगी की शिकार बेटी के लिए इंसाफ की गुहार लगाते मां बाप

Rudrapur Crime News: बीते साल जून महीने में 11 साल की लड़की का शव उसके घर में ही फांसी पर लटका हुआ पाया गया। परिजनों का आरोप है उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म कर फांसी पर लटक दिया गया। जबकि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत का कारण फांसी को बताया गया...

Rudrapur Crime News: उत्तराखंड के उधमसिंहनगर स्थित रुद्रपुर ब्लॉक के रेशमबाड़ी में 11 साल की नाबालिग बच्ची को बीते वर्ष 2021 के 21 जून को उसके घर पर ही फांसी पर लटका हुआ पाया गया था। बच्ची के परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी के साथ दो लड़कों मे पहले दरिंदगी की और फिर फांसी पर लटका दिया। इस मामले में पुलिस द्वारा 1 लड़के को हिरासत में भी लिया गया था, लेकिन कुछ दिन की हिरासत के बाद उसे रिहा कर दिया गया और मामले को निपटा दिया गया। इधर, बेटी की हत्या के छह माह बीत जाने के बाद भी मां बाप थाना और अफसरों के दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन इन्हें इंसाफ दिलाने में कोई भी पुलिस अधिकारी या प्रशासन दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है।

बता दें कि बीते साल जून महीने में 11 साल की लड़की का शव उसके घर में ही फांसी पर लटका हुआ पाया गया। मृत नाबालिग के पिता के अनुसार, घटना के दिन वे हमेशा की तरह सिडकुल के फैक्ट्री एरिया में अपने चाय के दुकान पर थे। बच्ची की मां भी काम के सिलसिले में बाहर थी। घर पर केवल दो बेटियां थी। बड़ी बेटी मां पिता को खाना देने गई। उस वक्त 11 साल की बेटी अलीशा घर पर अकेली थी। बड़ी बहन जब खाना देकर वापस लौटी तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था। बहन ने गेट के नीचे लगे जाली से देखा तो छोटी बहन के पांव हवा में लटक रहे थे। वह दौड़ती हुई अपने मां के पास गई और पूरी कहानी बताई। फिर कुछ लोगों की मदद से दरवाजा तोड़ा गया। बच्ची की मां ने बताया कि दरवाजा तोड़ते ही बाथरूम की तरफ से दो लड़के निकल कर भागे, जिसमें से एक को हमने पहचाना। जबकि, दूसरे को नहीं पहचान पाए।

मृतका की मां ने बताया कि घटना के बाद पुलिस जांच करने आई और उन्होंने इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया। मगर पुलिस इतने दिनों से इधर उधर भटकाती रही। न तो दोषियों पर कोई कार्रवाई हुई और न ही कोई सजा मिली। दोनों आरोपी लड़के खिलेआम घूम रहे हैं। मृतका के परिजनों का आरोप है कि पुलिस भी आरोपियों से मिली हुई है। पुलिस ने पैसा लेकर केस को रफा दफा कर दिया। दरिंदगी की शिकार हुई 11 साल की मृत बच्ची के परिजन अब अपनी बेटी के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। परिजनों का आरोप है उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म कर फांसी पर लटक दिया गया। जबकि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत का कारण फांसी को बताया गया।

घटना के बाद से आरोपियों द्वारा परिजनों को लगातार जान से मारने धमकी भी दी जा रही है। लड़की के पिता ने बताया कि आरोपियों द्वारा कहा जाता है कि हमारे पैसे में दम था, इसलिए हम छूट कर आ गए। वहीं, आरोपी लड़के उनकी छोटी बेटी के साथ भी उसी तरह की घटना को अंजाम देने की धमकी देते हैं।

(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रु-ब-रु कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा। इसलिए आगे आएं और अपना सहयोग दें। सहयोग राशि : 100 रुपये । 500 रुपये। 1000 रुपये)

Next Story

विविध