उत्तराखंड

Haldwani News: हल्द्वानी के मशहूर डॉक्टर 24 घंटे बाद भी लापता, कश्मीर में ट्रैकिंग के दौरान झील में डूबे थे

Janjwar Desk
23 Jun 2022 6:15 AM GMT
Haldwani News: हल्द्वानी के मशहूर डॉक्टर 24 घंटे बाद भी लापता, कश्मीर में ट्रैकिंग के दौरान झील में डूबे थे
x

Haldwani News: हल्द्वानी के मशहूर डॉक्टर 24 घंटे बाद भी लापता, कश्मीर में ट्रैकिंग के दौरान झील में डूबे थे

Haldwani News: कश्मीर टूर पर ट्रैकिंग के लिए गए हल्द्वानी शहर के प्रतिष्ठित सर्जन और संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ महेश कुमार 24 घंटे बाद भी लापता हैं। कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में तार सर झील पर पैदल चलने के लिए बने लकड़ी के पुल से गुजर रहे डॉ. महेश कुमार तेज बारिश में पुल टूटने के कारण अपने साथी व स्थानीय गाइड डॉक्टर शकील अहमद के साथ झील की तेज धारा में बह गए थे।

Haldwani News: कश्मीर टूर पर ट्रैकिंग के लिए गए हल्द्वानी शहर के प्रतिष्ठित सर्जन और संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ महेश कुमार 24 घंटे बाद भी लापता हैं। कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में तार सर झील पर पैदल चलने के लिए बने लकड़ी के पुल से गुजर रहे डॉ. महेश कुमार तेज बारिश में पुल टूटने के कारण अपने साथी व स्थानीय गाइड डॉक्टर शकील अहमद के साथ झील की तेज धारा में बह गए थे। देर शाम तक कश्मीर प्रशासन द्वारा चलाए गए सर्च आपरेशन में दोनों का पता नहीं चल सका है। जबकि घटनास्थल पर मौजूद 12 अन्य लोगों को बचाव दल ने सुरक्षित स्थान पर पहुंचा चुका है।

डॉक्टर के परिजनों में अनहोनी की आशंका

जानकारी के मुताबिक ट्रैकिंग के बेहद शौकीन डॉ. महेश कुमार 18 जून को हल्द्वानी से अपने कुछ अन्य साथियों के साथ ट्रैकिंग के लिए कश्मीर के तारसर झील क्षेत्र में गए थे। उनके साथ तीन टूरिस्ट गाइड व 14 अन्य लोग भी थे। बताया जा रहा है कि कश्मीर में मौसम खराब होने के कारण तीन दिन से लगातार भारी बारिश हो रही थी। जिस वजह से इनका यह दल ऊपर फंस गया। ट्रैकिंग पर निकला यह दल जल्द ही किसी सुरक्षित जगह की तलाश में था। इस बीच भारी बरसात की वजह से झील का जलस्तर बढ़ने से बुधवार सुबह तारसर झील पर बने पैदल पुल का हिस्सा भी ढह गया था। जिससे इस क्षेत्र से निकलने की कोशिश कर रहे डॉ. महेश और उनके साथ रहे गांदरबल के डा. शकील अहमद पुल पार करने के प्रयास में झील की धारा में बह गए। घटना के बाद मौके पर पहुंची एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम ने दल के 12 अन्य सदस्यों को वहां से निकाल आरू बेस कैंप तक पहुंचा दिया। लेकिन डॉ. व उनके स्थानीय गाइड का कुछ पता नहीं चल पाया।

मामले में पहलगाम के तहसीलदार मोहम्मद हुसैन ने बताया कि डा. महेश व उनके स्थानीय गाइड डा. शकील झील में डूब गए हैं। लगातार कोशिश के बाद भी अभी तक उनका कुछ पता नहीं चल सका है। गुरुवार सुबह बचाव दल फिर उनकी तलाश करेगा। अभी हम सभी उनकी सलामती की प्रार्थना कर रहे हैं। डा. महेश के साथ गए हल्द्वानी के ही डा. रोशन ने बताया कि वह झील में डूब गए हैं। युद्ध स्तर पर तलाश के बाद भी उनका अभी तक कोई सुराग नहीं सका है। शहर के प्रतिष्ठित सर्जन चिकित्सक महेश कुमार को पर्वतीय क्षेत्रों में ट्रैकिंग का खासा शौक है। अपने इस शौक के लिए वह समय-समय पर ट्रैकिंग के लिए दूरस्थ इलाकों में जाते रहे हैं। हाल ही में गढ़वाल भी ट्रैकिंग के लिए गए थे। मौजूदा समय में डा. महेश अपनी बेटी के साथ अस्पताल का संचालन करने वाले महेश पूरे कुमाउं मंडल में अपनी खास पहचान रखने वाले डॉक्टर हैं।

Next Story

विविध