समाज

Kashipur News: मां के इलाज के झांसे में लेकर उत्तराखंड की नाबालिग को राजस्थान में 5 लाख में बेच दिया, पागल से हुई शादी

Janjwar Desk
25 Nov 2022 3:59 PM GMT
Kashipur News: मां के इलाज के झांसे में लेकर उत्तराखंड की नाबालिग को राजस्थान में 5 लाख में बेच दिया, पागल से हुई शादी
x
Kashipur News: एक नाबालिग लड़की को उसकी मां का अच्छा इलाज कराने के झांसे में लेकर एक महिला और उसके साथी ने नाबालिग को राजस्थान में पांच लाख रुपए लेकर एक पागल से शादी करने के लिए बेच डाला।

Kashipur News: एक नाबालिग लड़की को उसकी मां का अच्छा इलाज कराने के झांसे में लेकर एक महिला और उसके साथी ने नाबालिग को राजस्थान में पांच लाख रुपए लेकर एक पागल से शादी करने के लिए बेच डाला। मामले में पुलिस ने पागल युवक के पिता को गिरफ्तार किया है, जबकि सौदे के पांच लाख में तीन लाख लेकर लापता हुए बाकी लोग अभी पुलिस की पकड़ से फरार हैं।

जानकारी के अनुसार काशीपुर इलाके के कुंडा क्षेत्र के इस्लामनगर मुहल्ले में यह महिला पिछले दो महीने से अपनी नाबालिग बेटी के साथ रह रही थी। महिला मूल रूप से यूपी के मुरादाबाद जिले की कांठ तहसील के रामपुर गांव की रहने वाली थी। महिला के पति का करीब चार साल पहले देहांत हो चुका था। महिला की गरीबी की स्थिति यह थी कि वह अपने गाल के ट्यूमर तक का इलाज नहीं करा पा रही थी। रात दिन वह इसके दर्द से परेशान रहती थी। इसी बीच इस महिला के पड़ोस में (मूल रूप से यूपी की) रहने वाली रहने वाली सोनिया कुमारी की नजर इस परिवार पर पड़ी तो उसने और उसके साथी राजू (जिसे सोनिया का मुंहबोला पति भी बताया गया है) महिला की नाबालिग बेटी को उसकी मां का इलाज करवाने का झांसा देकर राजस्थान चलने के लिए तैयार कर लिया। इन लोगों ने इससे पहले ही राजस्थान के अलवर जिले में मेवली गांव में एक पागल और विकलांग आदमी से इस लड़की की शादी कराने की एवज में पांच लाख में सौदा कर रखा था।


नाबालिग युवती को यह लोग अपने झांसे में लेकर राजस्थान उस गांव में ले पहुंचे जहां इन्होंने उसका सौदा कर रखा था। सौदे में से तीन लाख रुपए यह लेकर लड़की को वहीं छोड़कर फरार हो गए। दोनो ने अपने मोबाइल भी ऑफ कर लिए। लड़की की मां का जब अपनी लड़की और इनसे कोई सम्पर्क नहीं हुआ तो 15 नवम्बर को मां ने थाना कुंडा में अपनी बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई।

मामले का खुलासा करते हुए एसपी काशीपुर अभय सिंह ने बताया कि मामले को गंभीरता से लेते हुए गुमशुदा की तलाश व खोजबीन शुरू की गयी। खोजबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि दोनों आरोपियों ने पूर्व से ही एक व्यक्ति के परिवार से इस शर्त के साथ शादी तय की थी कि वह उस लड़की को बेचने के बदले में उन्हें 5 लाख रुपये देंगें। जिस व्यक्ति के साथ उक्त नाबालिग की शादी होनी थी वह एक पागल व विकलांग व्यक्ति है। नाबालिग की पड़ोसी महिला एवं उसके मुंह बोले पति ने उसे बहला-फुसलाकर ले जाकर 5 लाख रुपये में अभियुक्त पक्ष को बेच दिया तथा एडवांस में 3 लाख रुपये लेकर वहां से भाग गए। दोनो ने अपना मोबाइल भी स्विच ऑफ कर लिया।

एसपी ने बताया कि पुलिस ने सर्विलांस टीम की मदद और अपने प्रयास से करीब एक सप्ताह के अन्दर उस नाबालिग बालिका को उस नर्क भरी जिंदगी से राजस्थान के ग्राम मेवली, थाना कोटकासिम, जिला अलवर जाकर निकालकर बरामद कर लिया। इस मामले में विकलांग युवक के साथ शादी कराने वाले पिता मनोज कुमार पुत्र प्रहलाद निवासी ग्राम मेवली, थाना कोटकासिम, जिला अलवर, राजस्थान को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है। जबकि सोनिया कुमारी पत्नी शिशुपाल निवासी केवलगढ़ी हाथरस, उसके साथी राजू पुत्र पूरन सिंह निवासी माधावाला गढ़ी और इस रिश्ते में दलाली करने वाली सुनील देवी पत्नी मनोज कुमार, उसके बेटे मोनू निवासी ग्राम मेवली थाना कोटकासिम जिला अलवर के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 363, 368, 376, 506 के साथ ही पोक्सो एक्ट की धारा 5, 6, 16, 17 तथा बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम की धारा 9, 10, 11 के तहत मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

Next Story

विविध