राष्ट्रीय

ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ कड़े मुकाबले में वंदना कटारिया के गोल करके जातिवादियों को दिया करारा जवाब

Janjwar Desk
6 Aug 2021 7:09 AM GMT
ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ कड़े मुकाबले में वंदना कटारिया के गोल करके जातिवादियों को दिया करारा जवाब
x

(वंदना कटारिया के परिजनों के मुताबिक पिछले मुकाबले में टीम के हारने के बाद कुछ लोग उनका मजाक उड़ाकर नाचने लगे और पटाखे फोड़ने लगे)

हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया हरिद्वार के रोशनाबाद की रहने वाली हैं। पिछले मुकाबले में भारतीय टीम के हार के बाद कुछ लोगों ने उनके घर के बाहर पटाखे फोड़कर शर्मनाक जश्न मनाया था....

जनज्वार। टोक्यो ओलंपिक के महिला हॉकी सेमीफाइनल टूर्नांमेंट में भारतीय टीम कड़ी टक्कर के बाद 4-3 से ग्रेट ब्रिटेन से हार गई है। लेकिन खास बात यह है कि अर्जेंटीना से हार के बाद हाल ही में जिस दलित समुदाय से आने वाली हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया के घर के बाहर जातिवादियों ने शर्मनाक जश्न मनाया, उसने अपने गोल से ही उनको जवाब दिया है। ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ भारतीय टीम के 3 गोल में एक गोल वंदना कटारिया ने ही किया है।

बता दें कि हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया हरिद्वार के रोशनाबाद की रहने वाली हैं। पिछले मुकाबले में भारतीय टीम के हार के बाद कुछ लोगों ने उनके घर के बाहर पटाखे फोड़कर जश्न मनाया और जातिवादी टिप्पणियां भी की थीं। यही नहीं आरोपियों ने कपड़े उतारकर उनके घर के बाहर डांस भी करना शुरू कर दिया। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार भी किया है।

ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ भारतीय हॉकी टीम को तीन के मुकाबले चार गोल से हार का सामना करना पड़ा। खेल के बीच में जब भारतीय टीम पिछड़ने लगी तो वंदना कटारिया के गोल से टीम ने बढ़त बना ली। उन्होंने अपने गोल से न सिर्फ ग्रेट ब्रिटेन की टीम को पीछे धकेला बल्कि उन जातिवादी तत्वों को भी करारा जवाब दिया जो उनके घर के बाहर शर्मनाक जश्न मना रहे थे।

वंदना कटारिया के परिजनों के मुताबिक पिछले मुकाबले में टीम के हारने के बाद कुछ लोग उनका मजाक उड़ाकर नाचने लगे और पटाखे फोड़ने लगे। परिजनों ने बताया कि इन लोगों ने कहा कि भारत की हार का कारण यह था कि इसमें बहुत सारे दलित खिलाड़ी थे। इसके साथ ही परिवार भला बुरा कहा।

वहीं दूसरी ओर पूरा देश अब वंदना कटारिया और उनके परिजनों के साथ खड़ा होने लगा है। सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट के जरिए कई दिग्गज लोग समर्थन दे रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा- ''महिला हॉकी टीम की दलित खिलाड़ी के घर के बाहर बदतमीज़ी करने वाले डूब मरो। शर्मनाक घटना है। हम सभी को ऐसी घटनाओं का विरोध करना चाहिए और दोषियों को दण्डित करना चाहिए।''

स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, एक नेशनल हीरों का अपमान किया गया क्योंकि वह दलित है। एक दलित लड़की के साथ रेप और फिर उसकी हत्या की गई और फिर हम दिखावा करते हैं कि जाति मौजूद नहीं है। यह खबर वंदना कटारिया के बारे में है जिन्होंने क्वार्टर फाइनल में जादुई हैट्रिक बनाई।

Next Story

विविध