राष्ट्रीय

Gujrat Communal Violence : रामनवमी जुलूस के दौरान गुजरात में जमकर पथराव और तांडव, हिंसा में एक की मौत, ओवैसी ने बीजेपी पर साधा निशाना

Janjwar Desk
11 April 2022 7:15 AM GMT
Violence during Ramanavami : रामनवमी जुलूस के दौरान गुजरात में जमकर हुआ पथराव, हिंसा में एक की मौत
x

Violence during Ramanavami : रामनवमी जुलूस के दौरान गुजरात में जमकर हुआ पथराव, हिंसा में एक की मौत

Gujrat Communal Violence : गुजरात के ​आणंद जिले के पुलिस अधीक्षक अजीत राज्यन ने बताया है कि रविवार की दोपहर को खंभात में रामनवमी जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच हुई पथराव की घटना हुई। घटनास्थल पर लगभग 65 वर्षीय एक व्यक्ति का शव बरामद किया गया है...

Gujrat Communal Violence : गुजरात (Gujrat) के हिम्मतनगर (Himmat Nagar) और खंभात में (Khambat) बीते रविवार 10 अप्रैल को रामनवमी (Ramanavami ) की शोभायात्रा के दौरान दो समुदायों के बीच झड़प की खबरें आ रही है। बताया जा रहा है कि खंभात में हुई सांप्रदायिक झड़प में एक व्यक्ति की जान भी चली गयी है जबकि एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया है।

रामनवमी शोभायात्रा के दौरान हुई इन झड़पों के दौरान पुलिस को पथराव करने वाली भीड़ पर नियंत्रण के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े पर पूरे शहर में देर रात तक झड़प और हंगामे की खबरें आती रहीं।

आपको बता दें कि खंभात शहर गुजरात के आणंद जिले में पड़ता है जबकि हिम्मतनगर शहर साबरकांठा जिले के अंतर्गत आता है। ये दोनों जिले प्रसिद्ध कंपनी अमूल के सबसे बड़े दुग्ध उत्पादक जिले हैं।

पथराव में बुजुर्ग की गयी जान

गुजरात के ​आणंद जिले के पुलिस अधीक्षक अजीत राज्यन ने बताया है कि रविवार की दोपहर को खंभात में रामनवमी जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच हुई पथराव की घटना हुई। घटनास्थल पर लगभग 65 वर्षीय एक व्यक्ति का शव बरामद किया गया है, जिनकी अबतक शिनाख्त नहीं की जा सकती है। उन्होंने यह भी बताया है कि इस घटना में एक अन्य व्यक्ति भी जख्मी हुआ है जबकि उपद्रवियों ने कुछ दुकानों में आग लगा दी है। उन्होंने बताया है कि हालात पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े।

जुलूस में पथराव के बाद भड़की आग

वहीं साबरकांठा जिले के एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी है कि हिम्मतनगर शहर के छपरिया इलाके में दोपहर बाद जब रामनवमी का जुलूस निकला तो दो समुदायों के लोगों के बीच पथराव शुरू हो गया। पुलिस के अनुसार माहौल को शांत करने के लिए पुलिस की ओर से आंसू गैस के गोले छोड़े गए। उसके बाद स्थिति बिगड़ती देख अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाकर तैनात किया गया।

रामनवमी हिंसा पर शुरू हुई राजनीति

भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाए जाने वाले रामनवमी के अवसर पर जुलूस राम नवमी पर हुई हिंसा को लेकर अब राजनीति भी गरमाने लगी है।ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे भाषण देने के लिए रामनवमी यात्राओं का इस्तेमाल किया गया।

Next Story

विविध