राष्ट्रीय

हम पर गांधी की हत्या के भी आरोप लगे, हम इसकी चिंता नहीं करते : रामजन्मभूमि ट्रस्ट महासचिव, चंपत राय

Janjwar Desk
13 Jun 2021 4:25 PM GMT
हम पर गांधी की हत्या के भी आरोप लगे, हम इसकी चिंता नहीं करते : रामजन्मभूमि ट्रस्ट महासचिव, चंपत राय
x

(राम मंदिर के लिए कथित जमीन खरीद घोटाले का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।)

सपा नेता पवन पांडे ने राम मंदिर के लिए जमीन खरीद में 18 करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है। उनका यह आरोप ऐसे समय में आया है जब राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक आज शुरू हई है....

जनज्वार डेस्क। अयोध्या के पूर्व विधायक पवन पांडे और आम आदमी पार्टी से सांसद संजय सिंह की ओर से लगाए गए कथित जमीन खरीद घोटाले मामले पर श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का जवाब सामने आया है। राय ने कहा कि हम सौ साल से आरोप झेलते रहे हैं। महात्मा गांधी की हत्या के आरोप भी हम पर लगे हैं। हम आरोपों की चिंता नहीं करते और इसकी चिंता मीडिया भी न करे। मीडिया अपना काम करे, हम अपना काम करें। चंपत राय ने कहा कि हम आरोपों का अध्ययन करेंगे, इससे ज्यादा हमें कुछ नहीं कहना है।

बता दें कि सपा नेता पवन पांडे ने राम मंदिर के लिए जमीन खरीद में 18 करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है। उनका यह आरोप ऐसे समय में आया है जब राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक आज शुरू हई है। पवन पांडे का कहना है कि दो करोड़ की जमीन 18 करोड़ रुपये में खरीदी है। यह भगवान राम का अपमान है।

वहीं दूसरी ओर रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास और हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए अपना विरोध दर्ज कराया है। आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ऊपर लगे आरोप निराधार है या संभव नहीं है। यह राम भक्तों के द्वारा दान किए गए पैसे का अपमान है। अगर आरोप निराधार निकलते हैं तो आरोप लगाने वाले लोगों पर मुकदमा किया जाना चाहिए।

राजू दास ने कहा कि इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और उन्होंने आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर इस मामले में आरोप गलत निकले तो 50 करोड़ के मानहानि का दावा उन पर करेंगे।

वहीं सत्येंद्र दास ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट किसी तरीके का घोटाला करेगा यह संभव ही नहीं है। इसकी जांच होने पर ही पता लगेगा लेकिन जो लोग गलत आरोप लगा रहे हैं। पहले जांच होना चाहिए क्या यह बात सही है। अगर सही है तो फिर उस पर कार्रवाई हो, लेकिन अगर गलत है तो यह रामलला का अपमान है।

Next Story

विविध