Top
राष्ट्रीय

बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष की चेतावनी, ममता बनर्जी के लोग सुधर जाएं, नहीं तो हड्डी-पसली तोड़ भेज देंगे श्मशान

Janjwar Desk
9 Nov 2020 2:50 AM GMT
बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष की चेतावनी, ममता बनर्जी के लोग सुधर जाएं, नहीं तो हड्डी-पसली तोड़ भेज देंगे श्मशान
x

सफेद माला में दिलीप घोष रविवार को एक जनसभा को संबोधित करने के दौरान।

दिलीप घोष अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। उनके अधिकतर विवादित बयान सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस समर्थकों को चेतावनी देने वाले होते हैं...

जनज्वार। बिहार विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में पहुंचने के साथ ही अगले साल होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज हो गई। इसको लेकर जहां केंद्रीय नेताओं का प्रदेश में दौरा तेज हो रहा है, वहीं राज्य के नेताओं की राजनीतिक गतिविधियां भी तेज हो गईं हैं। पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में आते रहे हैं और उन्होंने रविवार को फिर एक बार विवादित बयान दिया।


दिलीप घोष ने रविवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा : मैं उत्पात मचाने वाले ममता दीदी के लोगों से कहना चाहता हूं कि वे अपने आपको छह महीने के भीतर सुधार लें। नहीं तो उनके हाथ, सिर व पसलियां तोड़ दी जाएंगी। आप लोगों को घर जाने से पहले अस्पताल जाना पड़ जाएगा। ANI के अनुसार, दिलीप घोष ने आगे कहा कि अगर इन लोगों ने ज्यादा उत्पात मचाया तो इन्हें श्मशान गृह भेज दिया जाएगा।



वहीं, प्रभात खबर की रिपोर्ट के अनुसार, दिलीप घोष ने पूर्व मेदिनीपुर के हल्दिया में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में दिल्ली से दादा की पुलिस आएगी और दीदी की पुलिस बैठी रहेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली से चितकबरी वर्दी वाली पुलिस आएगी और यहां की खाकी वर्दी वाली पुलिस को 100 मीटर दूर आम गाछ के नीचे कुर्सी पर बैठा दिया जाएगा।

दिलीप घोष ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि दीदी के जो लोग राज्य में उत्पात मचा रहे हैं वे सुधर जाएं क्योंकि मई में तख्ता पलट होने वाला है। उन्होंने कहा कि दीदी के जो लोग लोगों को धमका रहे हैं वे सुधर जाएं। उन्होंने ममता बनर्जी सरकार की तुलना हिटलर से की। उन्होंने कहा कि इसलिए बंगाल के लोग उनसे मुक्ति चाहते हैं।

दिलीप घोष ने महंगे आलू पर भी ममता सरकार को घेरा और कहा कि बंगाल में आलू की खेती होती है लेकिन यहां 40 से 45 रुपये किलो के भाव आलू बिक रहा है। उन्होंने कहा कि कोल्ड स्टोरेज में आलू का भंडार है, लेकिन उसे निकलने नहीं दिया जा रहा है। आलू से जो पैसे आ रहे हैं उसे इलेक्शन फंड के रूप में उपयोग किया जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it