राजनीति

क्वारेंटाइन में भेजे गये राम मनोहर लोहिया मेडिकल स्टाफ के 14 लोग, 6 डॉक्टर भी शामिल

Janjwar Team
30 March 2020 7:37 AM GMT
क्वारेंटाइन में भेजे गये राम मनोहर लोहिया मेडिकल स्टाफ के 14 लोग, 6 डॉक्टर भी शामिल
x

देशव्यापी लॉकडाउन के बावजूद कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी, अब वायरस की जद में आया राम मनोहर लोहिया अस्पताल का मेडिकल स्टाफ, छह डॉक्टर भी शामिल...

जनज्वार ब्यूरो। दुनिया के अन्य देशों की तरह भारत में कोरोना वायरस तेजी से अपने पैर पसार रहा है। देशव्यापी लॉकडाउन के बावजूद लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला अब दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल का है जहां कुछ डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ के 14 लोगों को क्वारेंटाइन में भेज दिया गया है। जानकारी के मुताबिक ये एक पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए थे।

आउटलुक इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के छह डॉक्टर और चार नर्स को कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने के चलते क्वारंटाइन में भेज दिया गया है।

संबंधित खबर : कोरोना संकट के राशन को भी भाजपा ने बनाया चुनावी हथियार, दान के पैकेट पर लगा मोदी का फोटो

हीं सोमवार तक कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 1071 तक पहुंच गई है। इससे अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार शाम तक कोरोना के मरीजों की संख्या 1024 थी। हालांकि, उसके बाद भी कई राज्यों को कोरोना के नए मामले सामने आए हैं।

केले राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां रविवार को 23 नए कोरोना के केस आए हैं, जिसके बाद यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 62 हो गई है। उधर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यहां से जा रहे मजदूरों से कहा कि वे लॉकडाउन का उल्लंघन न करें यहां पर खाने पीने की पर्याप्त व्यवस्था है।

के एक निजी अस्पातल में यमन के एक नागरिक की शुक्रवार 27 मार्च को कोरोना वायरस (कोविड-19) की वजह से मौत हो गई। इस वायरस से दिल्ली में मौत का यह दूसरा मामला है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। व्यक्ति को इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल में 24 मार्च को उस वक्त भर्ती किया गया था, जब वह अचानक बेसुध होकर गिर पड़ा था। वो यहां लीवर डोनर के तौर पर आया था और जरूरी जांच के लिए अस्पताल में रुका था। दिल्ली में यमन के नागरिक के अलावा पश्चिम दिल्ली में रहने वाली 68 वर्षीय महिला की मौत कोविड-19 से हुई थी।

संबंधित खबर : देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या हुई 1024, अब तक 27 मौतें

ता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और भारत समेत दुनिया के सभी देश कोरोना के संदिग्धों को 14 दिन के सेल्फ आइसोलेशन में भेजने के प्रॉटोकॉल को मान रहे हैं। अब अस्पताल के इस स्टाफ को इसी प्रॉटोकॉल के तहत 14 दिन खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखना होगा।

Next Story

विविध

Share it