Top
बिहार

बिहार पुलिस के सामाजिक सद्भाव वाले WhatsApp ग्रुप में भड़काऊ मैसेज भेजने वाला दरोगा बर्खास्त

Janjwar Team
7 April 2020 7:50 AM GMT
बिहार पुलिस के सामाजिक सद्भाव वाले WhatsApp ग्रुप में भड़काऊ मैसेज भेजने वाला दरोगा बर्खास्त
x

बक्शर जिला के नावानगर थाने में तैनात सहायक दरोगा ने 'साइबर सेनानी ग्रुप' में रविवार 5 अप्रैल की सुबह साढ़े 11 बजे आपत्तिजनक मैसेज भेज दिया था, जिसमें एक धर्म विशेष के विरुद्ध भड़काऊ मैसेज के साथ वीडियो भी था...

आलोक कुमार की रिपोर्ट

जनज्वार, पटना। पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर सामाजिक सद्भाव बनाए रखने और साइबर क्राइम पर रोक के लिए बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप में भड़काऊ मैसेज डालने वाले एएसआई को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। बिहार के बक्शर जिले के एसपी के निर्देश पर उसे रविवार को गिरफ्तार किया गया था। वहीं भड़काउ मैसेज करने वाले एसआई को तत्काल प्रभाव से नौकरी से डीआईजी के आदेशों पर बर्खास्त कर दिया गया है।

गौरतलब है कि बक्शर जिला के नावानगर थाने में पोस्टेड सहायक दरोगा संतोष कुमार ने 'साइबर सेनानी ग्रुप' में रविवार 5 अप्रैल की सुबह साढ़े ग्यारह बजे आपत्तिजनक मैसेज भेज दिया था, जिसमें एक धर्म विशेष के विरुद्ध भड़काऊ मैसेज के साथ वीडियो भी था। एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा के संज्ञान में आने बाद उन्होंने दरोगा को सस्पेंड कर जेल भेजने का आदेश दिया। वहीं मुख्यालय अधिकारियों के आदेश पर उसे शाहाबाद रेंज के डीआईजी ने सेवा से बर्खास्त कर दिया। साथ ही उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

संबंधित खबर : बिहार - कोरोना के खिलाफ जंग के बीच 16 जिलों के सिविल सर्जनों का हुआ तबादला

सकी पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक उपेंद्रनाथ वर्मा ने बताया कि फोटो वायरल करने के मामले में पुलिस महानिदेशक के आदेश पर सेवा से बर्खास्त कर दिया गया। एसपी ने बताया कि इसके पूर्व आरोपित एएसआई संतोष कुमार को नावानगर पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था।

में पोस्ट डालने के कुछ ही देर के बाद इसी पोस्ट को सोनवर्षा के कथित जदयू नेता शम्भू पटेल ने सोनवर्षा थाना के साइबर सेनानी ग्रुप में वायरल कर दिया। इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक उपेंद्रनाथ वर्मा ने उच्चाधिकारियों को घटना की जानकारी देते हुए दोनों को तत्काल गिरफ्तार कर कार्रवाई का आदेश दिया था।

रअसल इस ग्रुप का गठन लोगों को त्वरित सेवा देने के उद्देश्य से किया गया था। पर, धड़ल्ले से शामिल किए गए लोगों ने इसे मनोरंजन का साधन बना डाला था, और जिसे जो मन में आता था वही बेमतलब की चीजें पोस्ट करता रहता था।

साइबर सेनानी ग्रुप से जुड़े लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ग्रुप में ही पॉर्न वीडियो को लेकर कई तरह के गंदे वीडियो डाल रहे हैं, जिससे पुलिस परेशान है। गंदे हरकत करने वालों को पुलिस अब सबक सिखाने में जुट गई है। बक्सर एसपी ने ऐसे लोगों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है।

संबंधित खबर : प्रधानमंत्री की अपील पर झोपड़ी में जलाया था दिया, आग लगने से दादी और 2 बच्चियों की मौत

सपी उपेंद्रनाथ वर्मा का आदेश मिलते ही कई थानेदारों ने कार्रवाई भी शुरू कर दी है।थानेदारों ने ग्रुप में गंदे वीडियो डालने वालों कई लोगों को ग्रुप से बाहर कर दिया है।ऐसे लोगों पर शख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

ग्रुप से जुड़े हैं एसपी

ग्रुप लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया है। लेकिन लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं। बिना मतलब का रोज ऐसे ग्रुप में उपदेश, हंसी मजाक और गंदे वीडियो डाले जा रहे हैं।लेकिन अब इन लोगों की खैर नहीं है। ऐसे शरारती तत्वों द्वारा सांप्रदायिक एवं धार्मिक हिंसा फैलाने के लिए जैसे वीडियो भी लोग डाल दे रहे हैं। बता दें कि हर थानेदार ऐसे ग्रुप बनाए हुए है. सूचना देने के लिए बना है।

Next Story

विविध

Share it