Top
हरियाणा

प्रधानमंत्री के आह्वान पर लाइट बंद करके दीये न जलाने पर गुरुग्राम और जींद में मुस्लिम परिवारों पर हमला

Janjwar Team
7 April 2020 9:42 AM GMT
प्रधानमंत्री के आह्वान पर लाइट बंद करके दीये न जलाने पर गुरुग्राम और जींद में मुस्लिम परिवारों पर हमला
x

गुड़गांव में छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं, वहीं जींद में हमले के आरोप में पुलिस ने चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक मामले की जांच चल रही है। गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है...

जनज्वार ब्यूरो चंडीगढ़। गुरूग्राम में पुलिस ने एक रविवार की रात नौ बजे लाइट बंद कर दीया न जलाने पर छह लोगो ने एक मुस्लिम परिवार पर हमला बोल दिया। हमले में मुस्लिम समुदाय के कई लोग घायल हो गये हैं। दूसरी ओर पुलिस ने मामले में कार्यवाही करते हुए छह लोगों को गिरफ्तार किया है।

पीड़ितों ने बताया कि शनिवार की रात करीब नौ बजे उनके दरवाजे पर कुछ युवक 'भारत माता की जय' के नारे लगाते हुए आये। उस वक्त सीएम के आह्वान पर सभी ने अपनी लाइट बंद कर रखी थी और दीये जला रखे थे। लेकिन वह इस कार्यक्रम से अलग थे। इसी को लेकर युवकों ने उन्हें धमकाना शुरू कर दिया। जब उन्होंने आपत्ति की तो उन पर ईंटों से हमला बोल दिया। पीड़ित परिवार ने सुबह पुलिस को शिकायत दी।

खबर : अनिल विज की तब्लीगी जमात को चेतावनी: प्रशासन के सामने सरेंडर करो, नहीं तो होगी बड़ी कार्यवाही

शिकायतकर्ता आतिफ वारसी ने कहा कि मारपीट करने वाले पड़ोसी है। वह सभी छह साल से यहां रह रहे हैं, लेकिन आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि रात में भी 'हम मोबाइल फ्लैश लाइट के साथ खड़े' थे । तभी आरोपी आये और वीडियो बनाने लगे। इसी बीच उन्होंने दीया न जलाने पर उन्हें गाली देना शुरू कर दिया।

दूसरी ओर जींद जिले के गांव ठाठरथ में भी बत्ती ने बुझाने पर हिंदू पड़ोसियों ने चार मुस्लिम भाईयों पर हमला बोल दिया। इसमें बशीर खान उम्र 36 साल, सादिक खान उम्र 34 साल, नजीर खान उम्र 30 साल और संदीप खान घायल हो गये हैं। घायलों को जींद के अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

मुख्य महानिरीक्षक अश्वनी शेन्वी ने बताया कि चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पीड़ितों ने बताया कि रात में नौ बजे लाइट बंद करने और दीया जलाने को लेकर उनकी कुछ युवकों ने गोली गलौच हुई थी। लेकिन बाद में मामला शांत कर हो गया। अगले दिन सवेरे सोमवार को पड़ोसियों ने उन पर हमला बोल दिया। हमले में वह चारो भाई घायल हो गये हैं।

संबंधित खबर : पंजाब में ग्रामीणों की अनूठी पहल, कोरोना रोकने के लिए खुद को ऐसे कर रहे आइसोलेट

ग्रामीणों ने बताया कि मारपीट की वजह रविवार की रात नौ बजे लाइट बंद करना ही है। दो हजार की आबादी वाले इस गांव में बीस मुस्लिम परिवार रहते हैं। पीड़ितों ने बताया कि इससे पहले भी उन पर इसी तरह से हमले होते रहे हैं। जब से तब्लीकी जमात का मामला सामने आया है, तभी से गांव के लोग उन्हें धमकाते रहते हैं।

घटना के बाद गांव में तनाव बना हुआ है। वहीं मुस्लिक परिवार डरे हुए हैं। उनकी मांग है कि प्रशासन उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करें। क्योंकि अब उन पर गांव के लोग मामला वापस लेने के लिए दबाव भी बनायेंगे।

Next Story

विविध

Share it