Top
सिक्योरिटी

सीआईए ने किया दावा सऊदी युवराज ने कराई थी पत्रकार खशोगी की हत्या

Prema Negi
17 Nov 2018 4:54 PM GMT
सीआईए ने किया दावा सऊदी युवराज ने कराई थी पत्रकार खशोगी की हत्या
x

अगनेस कल्मार्ड ने की पत्रकार खशोगी मामले की जांच और जून 2019 में प्रस्तुत अपनी रिपोर्ट में क्राउन प्रिंस सलमान को खशोगी की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता बताया।

सीआईए की जांच के मुताबिक सऊदी अरब के 15 एजेंट सरकारी विमान से पहुंचे थे इस्तांबुल, जहां उन्होंने सऊदी अरब दूतावास में कर दी खशोगी की हत्या...

जनज्वार। अमेरिकी केंद्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) के मुताबिक सऊदी अरब के युवराज क्राउन प्रिंस वली उर्फ अहद मोहम्मद बिन सलमान ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या करवाई है।

'वाशिंगटन पोस्ट' में प्रकाशित खबर के मुताबिक उसने इस मामले से जुड़े लोगों के हवाले से यह खुलासा किया है। खबर के अनुसार अमेरिका का यह आकलन सऊदी अरब के अभियोजक की दलील के अपोजिट है, जिन्होंने इस नृशंस हत्या में सलमान की संलिप्तता को एक दिन पहले खारिज कर दिया था।

'वाशिंगटन पोस्ट' ने लिखा है कि सीआईए की जांच के अनुसार सऊदी अरब के 15 एजेंट सरकारी विमान से इस्तांबुल पहुंचे थे और उन्होंने सऊदी अरब के दूतावास में खशोगी की हत्या की थी। हालांकि अखबार को सीआईए ने इस बारे में पूछे जाने पर किसी भी तरह की ​टिप्पणी करने से मना कर दिया था।

गौरतलब है कि वाशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार जमाल खशोगी अपनी तुर्क मंगेतर से शादी करने के लिए आवश्यक दस्तावेज हासिल करने दूतावास गए थे, जहां युवराज ने उनकी हत्या करवा दी।

गौरतलब है कि सऊदी अरब के अभियोजक ने 15 नवंबर को कहा था कि खशोगी को समझा बुझाकर इस्तांबुल से वापस लाने के लिए 15 सदस्यीय दल गठित किया गया था, लेकिन अंतत: पत्रकार की हत्या कर दी गई और उनके शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए। 'वाशिंगटन पोस्ट' में प्रकाशित खबर के मुताबिक सीआईए ने कई खुफिया सूत्रों को खंगाला जिसमें वली अहद सलमान के भाई और खशोगी के बीच एक फोन कॉल भी शामिल है। मारे गए पत्रकार सलमान के भाई अमेरिका में सऊदी अरब के राजदूत हैं।

उन्होंने भी दिवंगत पत्रकार से कथित तौर पर यहा कहा कि वे इस्तांबुल में दूतावास जाने पर सुरक्षित रहेंगे और उन्हें जिन दस्तावेजों की जरूरत है, वे उन्हें दे दिए जाएंगे। वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक एक अधिकारी के हवाले से यह भी कहा गया कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने कहा है कि वली अहद की जबकि सऊदी अरब के ‘अगले शासक' तय हैं, तो ऐसे में बिना उनकी जानकारी या संलिप्तता के पत्रकार खशोगी की हत्या नामुमकिन है।

हालांकि सऊदी अरब का कहन है कि इस हत्या में उनके राजकुमार का कोई हाथ नहीं है, न ही किसी तरह की कोई संलिप्तता ही है। वहीं वाशिंगटन में सऊदी अरब के दूतावास की प्रवक्ता फातिमा बाशेन क​हती हैं, ‘सीआईए के कथित निष्कर्ष के दावे झूठे हैं। हम इन अटकलों के लिए प्राथमिक आधार देखे बिना कई तरह की बातें सुन रहे हैं।'

Next Story

विविध

Share it