Top
शिक्षा

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की मनमानी के खिलाफ प्रयागराज में प्रतियोगी छात्रों ने दिया धरना

Nirmal kant
6 Jan 2020 1:11 PM GMT
उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की मनमानी के खिलाफ प्रयागराज में प्रतियोगी छात्रों ने दिया धरना
x

प्रयागराज में उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की मनमानी के खिलाफ छात्रों ने किया प्रदर्शन, उम्रसीमा को न घटाने की मांग की, प्रदर्शनकारियों ने प्रभात कुमार मुर्दाबाद के नारे भी लगाये...

प्रयागराज से मनीष भारद्वाज की रिपोर्ट

जनज्वार। ऐसे समय में जब देश के अलग-अलग हिस्सों में लोग सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र सड़कों पर थे तभी 31 दिसंबर को 2019 को प्रयागराज के एक अखबार में खबर प्रकाशित हुई कि उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग को भी संघ लोकसेवा आयोग की तर्ज पर किया जायेगा। जैसे ही यह खबर आती है वैसे ही प्रयागराज में रह रहे प्रतियोगी छात्रों ने इस खबर का संज्ञान लेते हुए आयोग के खिलाफ जनसंपर्क अभियान शुरू कर दिया।

के विभिन्न पार्को, मोहल्लों में पहुंचकर इस फैसले की खबर के खिलाफ लामबंद होना शुरू हो जाते हैं। उसी विरोध के तहत सोमवार 6 जनवरी को लोक सेवा आयोग पर प्रतियोगी छात्रों ने धरना दिया। लोकसेवा आयोग के खिलाफ छात्र सुबह से मोहल्लों से जुटना शुरू हो गए थे। इसको देखते हुए प्रशासन की ओर से आरएएफ, पीएसी तथा भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किए गए थे।

संबंधित खबर : गंगा एक्सप्रेस-वे को सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी थी मंजूरी, मगर प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से प्रयागराज में कछार किनारे लाखों अवैध निर्माण!

स आंदोलन की सबसे खास बात यह रही कि यह पूरी तरह से प्रतियोगी छात्रों के द्वारा आयोजित किया गया था। सभी छात्रों से पहले ही यह अपील की गई थी कि हरेक छात्र अपने साथ एक किताब और एक कलम साथ लायें और अपनी मांगों को लोकसेवा आयोग के सामने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करेंगे।

स दौरान प्रतियोगी छात्रों की प्रमुख मांगे यह थी कि अखबार में प्रकाशित खबर पर आयोग के अध्यक्ष स्पष्टीकरण दें और किसी भी हाल में उम्रसीमा को न घटाया जाए। वहीं दूसरी तरफ यह मांग थी कि पीसीएस की प्रारंभिक परीक्षा में कम से कम 18 गुना छात्रों को मैन्स के लिए बुलाया जाए। वर्तमान में मैन्स के लिए 13 गुना ही छात्रों को बुलाया जा रहा है। इसके पहले 18 गुना छात्रों को बुलाया जाता था। इसके अलावा लोअर सबोर्डिनेट की कुछ पोस्ट जो अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के पास चली गई है उसको पुनः उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के माध्यम से आयोजित कराया जाए।

संबंधित खबर : प्रयागराज विकास प्राधिकरण गरीबों को उजाड़ नियम विरूद्ध कर रहा सड़क चौड़ीकरण, विरोध में जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना

स दौरान पांच सदस्यीय छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल ने लोक सेवा आयोग के सचिव को अपना ज्ञापन भी सौंपा। इस प्रतिनिधिमंडल में संदीप सिंह, प्रतिभा सिंह, विवेक उपाध्याय, पंकज सिंह, आलोक सिंह शामिल थे।

दौरान हजारों की संख्या में प्रतियोगी छात्र दस्ती बैनर लेकर लोकसेवा आयोग के सामने प्रदर्शन कर रहे थे। लोकसेवा आयोग के सचिव की ओर से यह आश्वासन दिया गया कि 31 दिसंबर 2019 को प्रकाशित खबर के संदर्भ में लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष प्रभात कुमार अगले कुछ दिनों में अपना स्पष्टीकरण दे देंगे। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि प्रतियोगी छात्रों के हितों का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

Next Story

विविध

Share it