Top
कोविड -19

कोरोना वायरस के निशाने पर पंजाब: संदिग्धों की जांच में राष्ट्रीय औसत से 3 गुणा अधिक मामले आ रहे सामने

Janjwar Team
29 March 2020 8:42 AM GMT
कोरोना वायरस के निशाने पर पंजाब: संदिग्धों की जांच में राष्ट्रीय औसत से 3 गुणा अधिक मामले आ रहे सामने
x

देश में कोरोना पीड़ितों का राष्ट्रीय औसत जहां 2.5 है, वहीं पंजाब में यह 7.5 तक पहुंच रहा है। हालांकि पंजाब में लगातार कर्फ्यू जारी है। इसके बाद भी वायरस पर काबू नहीं पाया जा रहा है....

जनज्वार ब्यूरो। चंडीगढ़ पंजाब में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले खासी चिंता का विषय बने हुए हैं। हालात यह है कि कर्फ्यू के बाद भी पंजाब में कोरोनो वायरस से पॉजिटिव मरीजों की संख्या का औसत राष्ट्रीय औसत से तीन गुणा ज्यादा है। देश में जहां कोरोनो वायरस के संदिग्धों की जांच में औसतन 2.5 प्रतिशत मरीजों पॉजिटिव पाये जा रहे हैं , वहीं पंजाब में यह पॉजिटिव का औसतन 7.5 प्रतिशत आ रहा है।

संबंधित खबर : मानवाधिकार संगठनों ने कहा, कोरोना महामारी की तुलना में बड़ा खतरा बन गई भारत की राज्य मशीनरी

पंजाब के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गये आंकड़ों के मुताबिक 596 संदिग्ध मरीजों का टैस्ट किया गया। इसमें से 38 मरीज कोरोनो के पॉजिटिव पाये गये। दूसरी ओर पटियाला में भी अब कोरोना पॉजिटिव जिले का पहला केस सामने आया है। यह युवक अंबाला के अस्पताल में भर्ती था। वहां टैस्ट से पता चला कि युवक कोरोना पॉजिटिव है।

टियाला के सिविल सर्जन हरीश मल्होत्रा ने बताया कि हमनें युवक के संपर्क में आये 14 लोगों के सैंपल लिये हैं। जिस गांव का युवक है, वह और इसके पास के दूसरे गांव को सील कर दिया गया है। इसके साथ ही आस पास के गांवों में भी हेल्थ विभाग ने सर्वे शुरू कर दिया है, जिससे यदि कोई संदिग्ध है तो उसका पता लगाया जा सके।

विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हमारी समस्या यह है कि विदेश से पंजाब में वापस आये लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं। वह अपना पता बदल कर रह रहे हैं। इस वजह से वायरस के फैलने का अंदेशा बना हुआ है। उन्होंने बताया कि इस वजह से काम करने में खासी दिक्कत आ रही है। यदि यह लोग भी सरकारी निर्देशों का पालन करे तो हम इसे फैलने से रोक सकते हैं।

सी बीच पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिंद्धू ने बताया कि हम कोरोना वायरस से पीड़ितों की जांच के लिए पटियाला व अमृतसर के सरकारी कालेज में लैब की क्षमता डबल कर दी है। सरकारी अस्पताल में आईसीयू बनाये गये हैं। पचास वेंटिलेटर मंगाये गए हैं।

संबंधित खबर : घर लौट रहे मजदूर के माथे पर पुलिस ने लिखा, 'मैने लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना'

न्होंने बताया पंजाब के 22 जिलों में से छह जिले ही कोरोना वायरस से प्रभावित है। इसी बीच स्वास्थ्य विभाग ने अस्थायी आधार पर आपातकालीन कर्मचारियों की भर्ती शुरू कर दी है। इनमें फार्मासिस्ट, स्टाफ नर्स, रेडियोग्राफर, प्रयोगशाला तकनीशियन, एएनएम, स्टाफ नर्स और वार्ड ब्वाय शामिल हैं। भर्ती किए गए कर्मचारियों में से प्रत्येक को प्रति दिन 1,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से आग्रह किया कि वह घबराये नहीं। बस सहयोग करें। सरकार वायरस पर रोक लगाने की दिशा में लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों के सहयोग से हम इस वायरस पर जल्दी ही रोक लगाने में कामयाब होंगे।

Next Story

विविध

Share it