Top
राजनीति

देश कोरोना-भुखमरी से बेहाल है और मोदी सरकार CAA प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी में व्यस्त

Raghib Asim
26 May 2020 10:48 AM GMT
देश कोरोना-भुखमरी से बेहाल है और मोदी सरकार CAA प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी में व्यस्त
x

फरवरी माह में दिल्ली के जाफराबाद इलाके में एंटी सीएए प्रोटेस्ट में भाग लेने के लिए जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के दो छात्रों को बीते शनिवार गिरफ्तार किया गया है...

जनज्वार। भारत की कोरोना से लगातार जंग जारी है, तमाम कोशिशों के बावजूद देश मे कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है, मंगलवार को देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 145380 हो गई, जिनमें से 6535 पॉजिटिव केस पिछले 24 घंटों के भीतर सामने आए हैं, तो वहीं लॉकडाउन के कारण प्रवासी मजदूरों की हालत काफी खराब हो गई है, जिसको लेकर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहा है तो वहीं इस ज्वलंत मुद्दे पर अब ट्वीट किया है मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने।

न्होंने ट्विटर पर लिखा कि जहां एक तरफ देश कोरोना और इससे जुड़ी अन्य समस्याओं से जैसे प्रवासियों का पलायन, बेरोजगारी और भूखमरी से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओर गृह मंत्रालय दैनिक आधार पर उन लोगों को गिरफ्तार करने में व्यस्त है, जिन्होंने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन किया था, उनकी प्राथमिकताएं शेष भारत से बिल्कुल अलग है।

प को बता दें फरवरी माह में दिल्ली के जाफराबाद इलाके में एंटी सीएए प्रोटेस्ट में भाग लेने के लिए जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के दो छात्रों को बीते शनिवार गिरफ्तार किया गया है, जिनके संबंध में जावेद अख्तर ने ये Tweet किया है, बता दें कि जावेद अख्तर का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और जमकर सुर्खियां बटोर रहा है।

यह भी पढ़ें : बिहार के 7 प्रवासियों की भूख-प्यास से ट्रेन में मौत, 2 दिन के बदले 9 ​दिन में पहुंचा रही हैं श्रमिक स्पेशल

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना वायरस के कारण पिछले 24 घंटों में 146 लोगों की मौत भी हो चुकी है, जिसके बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 4167 हो गया है। हालांकि अभी तककोरोना वायरस के 60,490 मरीज ठीक हो चुके हैं और फिलहाल एक्टिव केस 80,722 हैं, कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए लोगों के अंदर एक डर समा गया है कि क्या इंडिया में कोरोना थर्ड स्टेज पर पहुंच गया है, इसी बात का पता लगाने के लिए भारत के 10 हॉटस्पॉट शहरों में सीरोसर्वे कराने की बात भी हुई है।

यह भी पढ़ें : मजदूरों को ट्रेन-बस से मुफ्त भेजने पर उद्योगपतियों ने जताई नाराजगी, कहा चले गए तो कौन चलाएगा हमारी फैक्ट्रियां

पको बता दें कि ये पहला मौका नहीं है, जब जावेद अख्तर ने इस तरह से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है, इससे पहले भी वो कई बार सरकार के विरोध में ट्वीट कर चुके हैं, इससे पहले जब पीएम मोदी ने जब 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था तब भी जावेद अख्तर ने ट्वीट किया था कि 20 लाख करोड़ का पैकेज निश्चित रूप से राष्ट्र के लिए एक वरदान है, लेकिन 33 मिनट के भाषण में लाखों प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा के बारे में एक शब्द भी नहीं, जिन्हें अपने अस्तित्व के लिए तत्काल मदद की आवश्यकता है, स्वीकार्य नहीं।

Next Story

विविध

Share it