राजनीति

जज लोया के वकील को देवेंद्र फडणवीस के भाई ने धमकाया, कहा तुम्हारी बीवी का ख्याल है औकात में रहो

Janjwar Team
9 March 2018 10:38 AM GMT
जज लोया के वकील को देवेंद्र फडणवीस के भाई ने धमकाया, कहा तुम्हारी बीवी का ख्याल है औकात में रहो
x

संजय फडणवीस ने कहा 2019 में फिर आएंगे हम सत्ता में, फिर मत कहना कि लात मारकर क्यों डाल दिया जेल में, तुम्हारी बीवी की इज्जत करते हैं इसलिए नहीं कर रहे हैं ज्यादा कुछ...

मुंबई, जनज्वार। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के चचेरे भाई संजय फडणवीस ने रहस्यपूर्ण तरीके मारे गए जज लोया के मामले में जानकारी जुटा रहे उनके वकील को धमकाया है और कहा है कि हम 2019 में फिर महाराष्ट्र की सत्ता में आएंगे और फिर ये मत कहना कि लात मारकर जेल में क्यों डाल दिया। अगर इस मामले में ज्यादा घुसोगे तो अपनी जान से भी हाथ धो बैठोगे।

मुंबई हाईकोर्ट के जज रहे रहे बीएच लोया की रहस्यपूर्ण मौत का तथ्यगत खुलासा करने वाली पत्रिका कारवां के मुताबिक कार्यकर्ता और वकील अभियान बराहटे को संजय फडणवीस ने 5 मार्च की देर रात 1 बजे फोन किया और धमकी दी। संजय फडनवीस मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सगे चाचा का बेटा है और वह नागपुर में राजनीतिक रूप से अपने भाई के दम पर भाजपा की राजनीति में सक्रिय रहता है।

करीब दो मिनट की बातचीत में मुख्यमंत्री फडणवीस के भाई संजय फडणवीस ने कहा कि 2019 में हम फिर जीतकर आएंगे और तुम्हें हम समझा रहे हैं कि फिर शिकायत मत करना कि उठाकर जेल में क्यों डाल दिया और वहां तुम्हारी गांड क्यों मारी। बाराहाते से संजय फडणवीस ने यह भी कहा कि- तेरी पत्नी की इज्जत करता हूं, इसलिए ज्यादा कुछ नहीं कह रहा हूं।

गौरतलब है कि 6 मार्च को नागपुर पुलिस कमीश्नर को दी गई लिखित शिकायत में अभियान बाराहाते ने कहा है कि संजय फडणवीस ने आपराधिक नीयत से मुझे गंदी गालियां दीं। बराहटे ने कमीश्नर को विस्तार से बताया है कि 2014 विधानसभा चुनाव में संजय फडणवीस अपने भाई के लिए चुनाव प्रचार करता था।

बाराहाते राइट टू इंफोर्मेशन और अन्य तरीकों से भी जज लोया की रहस्यपूर्ण हत्या के सबूत जुटा रहे हैं और माना जा रहा है कि संजय फडणवीस की धमकी भाजपा के इशारों पर है। इशारों पर इसलिए क्योंकि जज लोया की हत्या उस समय हुई जब वे गुजरात के सोहराबुद्दीन फर्जी एनकाउंटर मामले में फैसला देने वाले थे और उसमें आरोपी के तौर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह प्रमुख रूप से शामिल थे।

अगर यह साबित होता है कि जज लोया की हत्या हुई थी तो जाहिर तौर पर बड़ा संदेह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उस समय के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर होगा।

Next Story

विविध

Share it