Top
आर्थिक

जो सड़कों पर मर रहे उनके लिए कुछ नहीं, MSME सेक्टर को दिया जाएगा 3 लाख करोड़ का बिना गारंटी लोन

Nirmal kant
13 May 2020 12:12 PM GMT
जो सड़कों पर मर रहे उनके लिए कुछ नहीं, MSME सेक्टर को दिया जाएगा 3 लाख करोड़ का बिना गारंटी लोन
x

जनज्वार ब्यूरो। कोरोना महामारी के बीच केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर की प्रेस कॉन्फ्रेंस जारी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में ही सीतारमण ने 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' की बात की और कहा कि आर्थिक पैकेज का ऐलान 'आत्मनिर्भर भारत' के लिए किया जा रहा है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री ने क्या कहा, नीचे पढ़ें लाइव अपडेट्स-

* कल पीएम का आर्थिक पैकेज पर ऐलान आपने सुना, इस पैकेज पर फैसला समाज के कई सेक्शन, कई मंत्रालय और विभागों के बीच चर्चा के बाद लिया गया था। कई विभागों, मंत्रालयों के अलावा पीएम मोदी खुद इस पैकेज पर चर्चा में शामिल रहे।

* पिछले कार्यकाल में कई योजनाएं आर्थिक सुधार से जुड़ी हुई थी, पीएम फसल बीमा योजना, फिशरी डिपार्टमेंट बनाना, पीएम किसान योजना जैसे सुधार कृषि क्षेत्रों के लिए किए गए हैं। सार्वजनिक क्षेत्र को बैंकों से जुड़े सुधार, बैंकों के रिकैपिटलाइजेशन जैसे काम किए गए हैं।

* डीबीटी के जरिए लोगों के खाते में सीधे पैसे पहुंच रहे हैं, किसी को बैंक तक जाने की जरूरत भी नहीं पड़ रही है। लोकल ब्रांड को ग्लोबल ब्रांड बनाने का लक्ष्य है। बिजली उत्पादन में भारत सरप्लस देश बना है।

* लॉकडाउन के बाद गरीब कल्याण योजना का ऐलान किया गया था। लॉकडाउन में राशन और अनाज का वितरण किया गया। जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उनको भी राशन मुहैया करवाया गया। लोगों के खाते में पैसे पहुंचाए गये।

* एमएसएमई सेक्टर लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रम को 3 लाख करोड़ रुपये का बिना गारंटी के लोन दिया जाएगा। एक साल तक ईएमआई से राहत। कहा कि संकट में फंसी एएसएमई को लिए 20 हजार करोड़ दिया जाएगा।

* एमएसएमई जो सक्षम हैं, लेकिन कोरोना की वजह से परेशान हैं, उन्हें कारोबार विस्तार के लिए 10,000 करोड़ रुपये के फंड्स ऑफ फंड के माध्यम से सहयोग दिया जाएगा।

* 15 हजार रुपये से कम सैलरी वालों को सरकारी सहायता मिलेगी। सैलरी का 24 फीसदी सरकार पीएफ में जमा करेगी। इसके लिए सरकार की ओर से 2,500 करोड़ की मदद दी जा रही है। 72 लाख कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।

* पीएफ कॉन्ट्रीब्यूशन अगले तीन महीनों के लिए घटाया जा रहा है। यह कदम नियोक्ताओं के लिए उठाया गया है। पीएसयू को 12 फीसदी ही देना होगा। पीएसयू पीएफ का 12 फीसदी ही देंगे लेकिन कर्मचारियों को 10 फीसदी पीएफ देना होगा।

* एमएसएमई के लिए ई-मार्केट लिंकेज पर जोर दिया जाएगा। सरकार एमएसएमई के बाकी पेंमेंट 45 दिनों के अंदर करेगी। अब 200 करोड़ तक के सरकारी कामों के लिए ग्लोबर टेंडर नहीं होंगे। मतलब 200 करोड़ रुपये तक की सरकारी खरीद में ग्लोबल टेंडर नहीं मंगाए जाएंगे।

अनुराग ठाकुर ने क्या कहा-

* COVID-19 के चलते मोदी सरकार ने जो पहला कदम उठाया वो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के रूप में लेकर आए। देश के गरीब को भूखा न रहना पड़े इसलिए 1,70,000 करोड़ का ये पैकेज माननीय वित्त मंत्री जी ने आपके सामने रखा था।

* प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कल 20 लाख करोड़ रुपये के ऐतिहासिक पैकेज की घोषणा की है। उन्होंने हमें निर्देश दिया है कि प्रतिदिन अलग-अलग सेक्टर के आधार पर हम आप लोगों की उस पैकेज की जानकारी देंगे।

सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया-

आर्थिक मामलों के वरिष्ठ पत्रकार राजेश रपरिया ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'आज की घंटा प्रेस कांफ्रेंस की मुख्य बातें- 1.जिन सेक्टरों की सहायता की घोषणाएं की गयी हैं,उनको असल लाभ के लिए अगले कोरोना अवसर का इंतजार करना पडे़गा। 2. जिनको राहत,सहायता ,नकद सहायता की जरूरत थी,उनके लिए 20 लाख करोड़ रुपये में से एक कौड़ी नहीं

Next Story

विविध

Share it