सिक्योरिटी

लातेहार में पुलिस मुठभेड़ के दौरान मारे गए 5 माओवादी

Janjwar Team
4 April 2018 3:21 PM GMT
लातेहार में पुलिस मुठभेड़ के दौरान मारे गए 5 माओवादी
x

सुरक्षा बलों के जवान स्थानीय पुलिस के साथ सेरेनदाग जंगल में सर्च ऑपरेशन चला रही थी, इसी दौरान 70 माओवादियों के एक जगह इकट्ठा होने की सूचना मिली तो हमला कर दिया, जिसमें 5 माओवादियों की मौत हो गई...

रांची, जनज्वार। झारखंड की राजधानी रांची से करीब 110 किलोमीटर दूर स्थित लातेहार जिले में सुरक्षा बलों द्वारा नक्सल विरोधी अभियान के तहत की जा रही कारवाई में भाकपा माओवादी के 5 सदस्यों को मार दिया गया।

गौरतलब है कि हेरहंज थाना क्षेत्र के सेरनदाग जंगल में मौजूद माओवादियों पर सीआरपीएफ और जिला पुलिस बल के जवानों ने गुप्त सूचना के आधार पर अचानक हमला बोल दिया, परिणाम स्वरूप पांच माओवादी इनकी गोली के शिकार हो गये। लातेहार के एसपी प्रशांत आनंद ने इस घटना की पुष्टि की है।

एसपी प्रशांत आनंद के मुताबिक मारे गये 5 माओवादियों के शव बरामद कर लिये गये हैं। घटना के बाद घटनास्थल से काफी संख्या में गोलियां और पिटठू बैग बरामद हुए हैं और पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है। एसपी ने बताया कि 5 माओवादियों के शव भी बरामद कर लिये गये हैं और घटनास्थल से तीन एके-47 राइफल बरामद हुई हैं।

यह घटना उस समय हुई जब सुरक्षा बलों के जवान स्थानीय पुलिस के साथ सेरेनदाग जंगल में सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। इसी दौरान भाकपा माओवादी के नक्सलियों के साथ उनकी मुठभेड़ हो गयी।

एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि बड़ी संख्या में माओवादी जंगल में पहुंचे हैं और किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस ने सुरक्षा बलों के साथ मिलकर रणनीति बनायी और कल 3 अप्रैल की रात में ही हेरहंज थाना की पुलिस, सीआरपीएफ और झारखंड जगुआर की तीसरी बटालियन के जवान माओवादियों की खोज में निकल पड़े।

पुलिस के मुताबिक 3 अप्रैल की सुबह सुरक्षा बल जैसे ही माओवादियों के नजदीक पहुंचे, नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षा बलों ने भी माओवादियों को करारा जवाब दिया। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में 5 माओवादी ढेर हो गये। एसपी के अनुसार पुलिस को भारी पड़ता देख सभी नक्सली वहां से भाग गये।

बताया जाता है कि जिस समय यह घटना घटी, वहां करीब 70 माओवादी मौजूद थे। आइजी (ऑपरेशन) आशीष कुमार बत्रा का कहना है कि मारे गये नक्सलियों के पास से हथियार भी बरामद हुए हैं। बरामद हथियारों में एके-47 और इन्सास राइफल शामिल हैं।

उल्लेखनीय है कि मार्च में पलामू जिले में सुरक्षा बलों ने दो महिला समेत चार नक्सलियों को मार गिराया था। उक्त घटना लालघाटी-नौडीहा इलाके में हुई थी, जब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 134वीं बटालियन और राज्य पुलिस की संयुक्त टीम तथाकथित माओवादी-विरोधी अभियान पर थी।

Next Story

विविध

Share it