शिक्षा

झारखंड में लॉ स्टूडेंट को अगवा कर 12 लोगों ने किया गैंगरेप, सभी आरोपी गिरफ्तार

Prema Negi
29 Nov 2019 6:07 AM GMT
झारखंड में लॉ स्टूडेंट को अगवा कर 12 लोगों ने किया गैंगरेप, सभी आरोपी गिरफ्तार
x

जनज्वार। झारखण्ड इन दिनों विधानसभा चुनावों के चलते चर्चा में है, मगर इस बीच एक जघन्य वारदात सामने आयी है। एक लॉ छात्रा को बस स्टॉप से अगवा कर 11 लोग ईंट भट्टे पर ले गये, जहां उसका गैंगरेप किया गया।

जानकारी के मुताबिक पीड़ित छात्रा मंगलवार 26 नवंबर को जब अपने एक साथी के साथ बस स्टॉप पर बैठी हुई थी कि तभी एक ऑल्टो कार में सवार छह लड़के वहां आये और उसे जबर्दस्ती हथियारों के बल पर अपनी गाड़ी में बिठाकर ले गये। कार में ही उन्होंने छात्रा का बारी बारी से रेप किया।

गौरतलब है कि यह घटना रांची के कांके के पास स्थित एक बस स्टॉप पर घटित हुई। कार सवार युवकों ने उसका चलती कार में रेप किया और फिर उसे संग्रामपुर गांव के ईंट भट्टे पर ले गये जहां पहले से ही आधा दर्जन लोग मौजूद थे। वहां उन लोगों ने भी छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार किया।

27 नवंबर को छात्रा की शिकायत पर कांके थाना क्षेत्र की पुलिस ने बलात्कार आरोपियों को गिरफ्तार किया। इस मामले में पुलिस की तत्परता से 24 घंटे के अंदर बलात्कार आरोपियों को जरूर गिरफ्तार कर लिया गया।

देश में हर दिन कई ऐसी दिल दहलाने वाली घटनायें सामने आ रही हैं जिससे मोदी जी की बहुप्रचारित बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ की खुलेआम धज्जियां उड़ रही हैं। 27 नवंबर को गैंगरेप के बाद पेट्रोल डालकर बुरी तरह जला दी गयी कोयंबटूर की डॉ. प्रियंका रेड्डी का मामला भी इंसानियत को शर्मसार करता है और लड़कियों की सुरक्षा की घोषणा करते शासन-प्रशासन पर भी सवालिया निशान खड़े करता है।

यह भी पढ़ें : तेलंगाना की महिला डॉक्टर प्रियंका रेड्डी की बेरहमी से जलाकर हत्या, बुरी तरह जली लाश पुल के नीचे से हुई बरामद

थियार के बल पर अगवा कर गैंगरेप की शिकार हुई लॉ स्टूडेंट की शिकायत पर कांके थाना पुलिस हरकत में आयी और बुधवार 27 नवंबर की देर रात तक छापामारी कर 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक बलात्कार आरोपी युवकों के पास से एक देसी पिस्तौल, कट्टा, कारतूस और घटना में इस्तेमाल की गयी बाइक, कार के अलावा 8 मोबाइल फोन भी बरामद किये गये हैं। छापेमारी में डीएसपी नीरज कुमार, कांके थाना प्रभारी विनय कुमार सिंह सहित कई अधिकारी शामिल रहे।

लात्कार पीड़ित लॉ छात्रा ने अपनी शिकायत में कहा कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म करने वाले सभी आरोपी नशे में धुत थे और उनके पास हथियार भी थे। जब वे छात्रा को अगवा करके ले जा रहे थे तो उसके दोस्त ने विरोध किया। विरोध करने पर उन युवकों ने न सिर्फ उसके दोस्त को पिस्तौल दिखायी, बल्कि उसके साथ मारपीट भी की।

पीड़िता की शिकायत के मुताबिक गैंगरेप के दौरान वह कार में ही बेहोश हो गयी थी, मगर फिर भी उन दुष्क​र्मियों में इंसानियत नहीं जगी और उन्होंने अपने अन्य 6 साथियों को ईंट भट्टे पर बुलाया और वहां भी उन लोगों ने उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। पीड़िता के मुताबिक इस दौरान सभी बलात्कारी युवा वहीं बैठे रहे और जब उसे होश आया तो उन लोगों ने उसे वापस उसी बस स्टॉप पर छोड़ दिया, जहां से उसे अगवा किया गया था। इस कुकृत्य को अंजाम देने के बाद सभी आरोप फरार हो गये थे। घटना के बाद पीड़ित छात्रा किसी तरह अपने दोस्त की मदद से कांके थाना पहुंची और उसने पुलिस को मामले की जानकारी दी।

यह भी पढ़ें : गुजरात में ब्लैकमेल और धमकी देकर डिप्टी तहसीलदार का बेटा कर रहा था नाबालिग का रेप तो तंग आकर की आत्महत्या, 1 महीने बाद भी नहीं हुई आरोपी की गिरफ्तारी

कांके थाना प्रभारी विनय सिंह ने तुरंत घटना की जानकारी अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी, जिस पर कार्रवाई करते हुए रांची के सीनियर एसपी ने गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया। पुलिस ने पीड़िता के बताये हुलियों के आधार पर सभी 12 बलात्कार आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली है।

Next Story

विविध

Share it