Top
समाज

क्या इंदिरा जयसिंह के कहने पर कर दी जाये निर्भया के बलात्कारियों की फांसी की सजा माफ?

Nirmal kant
18 Jan 2020 9:38 AM GMT
क्या इंदिरा जयसिंह के कहने पर कर दी जाये निर्भया के बलात्कारियों की फांसी की सजा माफ?
x

वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने की निर्भया की मां से गुजारिश, सोनिया ने जिस तरह राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी की मौत की सजा माफ कर दी है, उसी प्रकार आशा देवी को मौत की सजा माफ़ कर देनी चाहिए...

जनज्वार। देश की कई बड़ी घटनाओं में मृत्युदंड का सामाजिक कार्यकर्ता, मानवाधिकार कार्यकर्ता आदि विरोध करते रहे हैं लेकिन दिल्ली में निर्भया गैंगरेप की घटना इतनी वीभत्स थी कि इस मामले में कोई भी मृत्युदंड को रोकने की बात नहीं कर रहा है। इस बीच देश की जानी-मानी वकील इंदिरा जयसिंह ने निर्भया की मां आशा देवी से अपील की है कि वे अपने बेटी के बलात्कारियों की फांसी की सजा माफ कर दें।

इंदिरा जयसिंह ने इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का उदाहरण देते हुए ट्वीट किया कि सोनिया ने जिस तरह राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी की मौत की सजा माफ कर दी है, उसी प्रकार आशा देवी को मौत की सजा माफ़ कर देनी चाहिए।

रिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह के माफी वाले ट्वीट पर निर्भया को इंसाफ दिलाने के लिए सालों से कानूनी जंग लड़ रहीं उसकी मां आशा देवी बुरी तरह बिफर गयीं। उन्होंने इंदिरा जयसिंह पर जवाबी कार्रवाई करते हुए कहा, 'इंदिरा जयसिंह को इस तरह का सुझाव देने की हिम्मत कैसे हुई। वे सुप्रीम कोर्ट में उनसे कई बार मिलीं, लेकिन उन्होंने एक बार भी उनका हाल-चाल नहीं पूछा। आज वो दोषियों के हक में बोल रही हैं। ऐसे लोग बलात्कारियों को सपोर्ट कर अपनी रोजी रोटी चलाते हैं, इसलिए पीड़ितों को इंसाफ नहीं मिलता है।'

शा देवी ने कहा ये वही लोग हैं जो 2012 में घटना के समय काली पट्टी बाँध के विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। आज यही लोग मेरी बेटी की मौत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इन्होंने अपने फायदे के लिए फाँसी को रोका और हमें बीच में मोहरा बनाया।

खबर : मोदी सरकार से निर्भया गैंगरेप आरोपियों की फांसी का LIVE TELECAST करने की इस NGO ने उठायी मांग

निर्भया की माँ ने प्रधानमंत्री मोदी से अपील की कि आप 'बहुत हुआ नारी पर वार अबकी बार मोदी सरकार' के वादे के साथ सरकार में आये थे, आप एक बच्ची की मौत के साथ मजाक मत होने दीजिये, मुजरिमों को फांसी हो जाने दीजिये और तब कहिये की हाँ हम देश के रखवाले हैं।

इंदिरा जयसिंह ने कहा कि वे आशा देवी के दर्द और वेदना को समझती हैं, लेकिन मृत्युदंड के खिलाफ हैं। आशा देवी ने इंदिरा जयसिंह की अपील पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि इंदिरा जय सिंह उन्हें सलाह देने वाली कौन होती हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की वजह से ही रेप पीड़ितों के साथ इंसाफ नहीं हो पाता है।

संबंधित खबर : निर्भया गैंगरेप-हत्या मामले में फांसी की तारीख बदलने से खफा निर्भया की मां बोली अपराधियों की सुनता है हमारा सिस्टम

फरवरी को सुबह 6 बजे होनी है फाँसी

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों के लिए डेथ वारंट जारी कर दिया है। चारों दोषियों को 1 फरवरी सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। इससे पहले चारों दोषी विनय, मुकेश, पवन और अक्षय को 22 जनवरी को फांसी दी जानी थी, लेकिन एक दोषी मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर की थी, राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका खारिज कर दी। इसके बाद पटियाला कोर्ट ने डेथ वारंट जारी किया। कुछ दिन पहले ही फांसी की सजा के लिए तिहाड़ जेल प्रशासन ने यूपी की जेलों से दो जल्लाद उपलब्ध कराने का अनुरोध किया था।

Next Story

विविध

Share it