Top
राजनीति

जनज्वार की खबर का असर, फोटो पत्रकार के साथ मारपीट करने वाला एसपी का गनर सस्पेंड

Nirmal kant
10 May 2020 3:00 AM GMT
जनज्वार की खबर का असर, फोटो पत्रकार के साथ मारपीट करने वाला एसपी का गनर सस्पेंड
x

पीड़ित पत्रकार का आरोप था कि जिस समय वो कवरेज के लिए जा रहा था उसी समय डीएम-एसपी का काफिला वहां से निकल रहा था। जब तक उन्होंने हाथ देकर गाड़ी रोकने का इशारा किया तब तक एसपी के गनर ने उन्हें डंडे से बुरी तरह पीट दिया...

जनज्वार ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में कवरेज करने जा रहे पत्रकार पर कल एसपी विक्रान्तवीर के गनर द्वारा लाठियां बरसाई गई थीं। मामला उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के आईबीपी चौराहे का था। जहां पर एसपी विक्रान्तवीर के गनर की गुंडागर्दी सामने आई थी। एसपी के गनर ने निजी अखबार के कैमरामैन को बुरी तरह से पीटा था। पुलिस की मारपीट से फ़ोटो जर्नलिस्ट गंभीर रूप से घायल हो गया था।

पीड़ित पत्रकार का आरोप था कि जिस समय वो कवरेज के लिए जा रहा था उसी समय डीएम-एसपी का काफिला वहां से निकल रहा था। जब तक उन्होंने हाथ देकर गाड़ी रोकने का इशारा किया तब तक एसपी के गनर ने उन्हें डंडे से बुरी तरह पीट दिया। पुलिसकर्मी की पिटाई से पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गया था। पत्रकार की पीठ और हाथ में गंभीर चोटें आई थीं। 'जनज्वार' ने मामले को प्रमुखता से उठाते हुए इस खबर का वीडियो दिखाया था, जिसके बाद एसपी ने सिपाही को सस्पेंड कर विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं।

संबंधित खबर: पूर्व IPS ने कहा कोरोना संकट की आड़ में तानाशाही और मनमानी की ओर बढ़ रही सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया को कोरोना फाइटर बताया था, लेकिन उत्तर प्रदेश के कई जगहों में पत्रकारों से हुई अभद्रता के बाद कल उन्नाव में एक निजी फ़ोटो जर्नलिस्ट की पिटाई कर दी दी गई। यह पिटाई डीएम और एसपी की मौजूदगी में ही हुई थी।

गुरुवार 7 मई की दोपहर उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के आईबीपी चौराहे पर फोटो जर्नलिस्ट पर पुलिसिया कहर बरपा था, जिसमे खुद एसपी विक्रान्तवीर के गनर ने आज व सहारा अखबार के लिए काम कर रहे मयंक कुमार शुक्ल को बुरी तरह पीटा दिया था। बताया जा रहा है फ़ोटो जर्नलिस्ट के तौर पर कार्यरत मयंक कवरेज करने के लिए जा रहे थे, तभी आईबीपी चौराहे पर डीएम-एसपी निकल रहे थे। इसी दौरान एसपी विक्रान्तवीर के गनर ने कवरेज के लिए जा रहे फ़ोटो जर्नलिस्ट को रोका। जैसे ही मयंक ने गाड़ी रोकी एसपी के गनर ने बिना कुछ पूछे पत्रकार को डंडे से पीटना शुरू कर दिया। जिसके बाद पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गया।

की पीठ और हाथ पर मारपीट को साफ तौर पर देखा जा सकता है। जिसे बाकायदा 'जनज्वार' ने अपने वीडियो में दिखाया था। जनज्वार द्वारा प्रसारित वीडियो में पुलिस की हैवानियत की इंतेहा उसकी पीठ पर साफ तौर पर देखी जा सकती है। पीड़ित पत्रकार ने अपने साथ हुई मारपीट की दास्तां को बयां किया। जनज्वार पर खबर चलने के बाद एसपी उन्नाव ने मामले को गंभीरता से लिया और शनिवार को सिपाही अंकित को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही विभागीय जांच के निर्देश भी दिये गए है। फिलहाल अब एसपी ने कोरोना महामारी में पत्रकारों से सहयोग की अपील की है।

संबंधित खबर: कोरोना वायरस से भाजपा नेता की मौत, 15 दिन पहले पिता की भी संक्रमण से हुई थी मौत

स मामले में उन्नाव निवासी पत्रकार अजय कुमार ने जनज्वार का शुक्रिया अदा करते हुए एक वीडियो भेजा और पत्रकार की आवाज बनने के लिए धन्यवाद जताया। अजय कुमार ने कहा कि वह भी एक संस्थान के पत्रकार हैं। दिनांक 8 मई को उन्नाव में आज और राष्ट्रीय सहारा के पत्रकार मयंक शुक्ल की एसपी उन्नाव के गनर द्वारा पिटाई की गई थी। इस संबंध में लीडिंग समाचार वेबसाइट जनज्वार ने निर्भीक तौर पर खबर को दिखाया था। खबर उन्नाव के तमाम समाचार ग्रुपों में शेयर हुई थी। खबर के असर में उन्नाव एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की और दोषी सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया है।

Next Story

विविध

Share it