झारखंड विधानसभा चुनाव : अमित शाह ने फिर NRC का राग अलापा, कहा देशभर से 2024 तक घुसपैठियों को बाहर निकाला जाएगा

Prema Negi
3 Dec 2019 3:06 PM GMT
झारखंड विधानसभा चुनाव : अमित शाह ने फिर NRC का राग अलापा, कहा देशभर से 2024 तक घुसपैठियों को बाहर निकाला जाएगा
x

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा देशभर में 2024 तक लागू की जाएगी एनआरसी, झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा की जनसभा को संबोधित कर रहे थे अमित शाह, असम में लागू होने के बाद विवादों में आ चुका एनआरसी...

जनज्वार। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार फिर विवादित एनआरसी का राग अलापा है। झारखंड की एक चुनावी में उन्होंने एक बार फिर कहा कि साल 2024 तक देशभर में एनआरसी लागू की जाएगी। शाह ने कहा कि अगले आम चुनावों तक देश के हर घुसपैठिए की पहचान कर उसे देश से बाहर निकाल दिया जाएगा।

श्चिम बंगाल में कुछ भाजपा नेताओं द्वारा यह आशंका जताए जाने के बावजूद कि हाल के उपचुनावों में यह मुद्दा पार्टी को भारी पड़ा है, केंद्रीय गृह मंत्री ने झारखंड में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्षी दलों की आपत्तियों के बावजूद इस राष्ट्रव्यापी कवायद को अंजाम दिया जाएगा।

संबंधित खबर : NRC के मुद्दे पर एक विदेशी घुसपैठिए का गृहमंत्री अमित शाह को खुला खत

शाह ने झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के चक्रधरपुर और पूर्वी सिंहभूम जिले के बहरागोड़ा में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा, 'आज मैं आपको बताना चाहता हूं कि 2024 के चुनावों से पहले देशभर में एनआरसी कराई जाएगी और हर घुसपैठिये की पहचान कर उस बाहर किया जाएगा।

वायनाड सांसद और कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृहमंत्री शाह ने कहा, 'राहुल बाबा कहते हैं कि एनआरसी क्यों ला रहे हो? राहुल ऐसा क्यों बोलते हैं वह आपके चचेरे भाई लगते हैं? 2024 से पहले देश के एक-एक घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है।

शाह ने कहा कि आंतकवाद और नक्सलवाद को उखाड़ना और अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण भी झारखंड चुनावों में उतने ही महत्वपूर्ण हैं जितने कि विकास जैसे स्थानीय मुद्दे। शाह ने कांग्रेस के ऊपर राम जन्मभूमि - बाबरी मस्जिद विवाद मुद्दे पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने उच्चतम न्यायालय में इस मामले में सुनवाई को बाधित करने की कोशिश की गई थी। कांग्रेस नेताओं ने न्यायालय से कहा कि राम जन्मभूमि मामले में सुनवाई की कोई जरूरत नहीं है।

न्होंने आगे कहा, 'आपके समर्थन से हमने कहा कि इसे आगे ले जाया जाना चाहिए और नतीजा यह हुआ कि सर्वोंच्च अदालत ने कहा कि अयोध्या में सिर्फ राम मंदिर बनेगा। उन्होंने झामुमो- कांग्रेस राजद गठबंधन पर भी निशाना साधा जो झारखंड चुनावों में भाजपा से सीधे मुकाबले में है।' केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि आदिवासियों के अधिकारों का दोहन करने वाले, करोड़ों रुपए की घूसखोरी में शामिल और चुनावी टिकटों की खरीद बिक्री करने वाले दल कभी झारखंड के विकास के लिये काम नहीं कर सकते।

संबंधित खबर : 2010 में सीबीआई ने अमित शाह को किया था तड़ीपार, अब बने देश के नए गृहमंत्री

हीं इस पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जबाव देते हुए कहा कि हम एनआरसी को लागू करने का विरोध करते हैं, खासकर पश्रिचम बंगाल में इसके लागू करने का विरोध करते हैं। ममता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार एनआरसी को धर्म और जाति के आधार पर लागू करवा रही है जो गलत है। मालूम हो कि झारखंड में पांच चरणों मे विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। राज्य में सात सिंतबर को दूसरे चरण का चुनाव होने वाला है, वही अंतिम चरण का चुनाव 20 दिसंबर को होगा।

Next Story