जनज्वार विशेष

नीरव मोदी को चप्पल से क्यों मारना चाहती है यह महिला

Janjwar Team
21 Feb 2018 7:08 PM GMT
नीरव मोदी को चप्पल से क्यों मारना चाहती है यह महिला
x

पीएनबी महाघोटाले में सीबीआई द्वारा पकड़े गए अर्जुन पाटिल की पत्नी सुजाता पाटिल कहती है, बेकसूर हैं उसके पति, असली आरोपी नीरव मोदी तो देश छोड़कर भाग चुका है...

पंजाब नेशनल बैंक महाघोटाले में लगातार गिरफ्तारियां जारी हैं। मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कल 20 फरवरी को इसके लिए पंजाब नेशनल बैंक के जनरल मैनेजर रैंक के अधिकारी राजेश जिंदल को आरोपी बना गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि जिंदल पीएनबी की ब्रेडी हाउस ब्रांच का अगस्त 2009 से मई 2011 के बीच प्रमुख था।

संबंधित खबर : ये रहे वो 30 बैंक जिनके पैसे लेकर भाग गया नीरव मोदी

इससे पहले सीबीआई नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार इंटरनेशनल डायमंड ग्रुप के फाइनेंस अधिकारी विपुल अंबानी को भी गिरफ्तार कर चुकी है। इसके अलावा कविता मनकीकर, फायरस्टार के अर्जुन पाटील, नक्षत्र के सीएफओ कपिल खंडेलवाल और गीतांजलि के मैनेजर नीतिन शाह को भी हिरासत में लिया गया है।

संबंधित खबर : देखती रह गयी मोदी सरकार, विजय माल्या के बाद अब नीरव मोदी भी भाग गया देश छोड़कर

पति की गिरफ्तारी से आहत अर्जुन पाटील की पत्नी सुजाता पाटील आपे से बाहर आकर कहती हैं कि अगर नीरव मोदी उसके सामने आ जाए तो वह उसे चप्पल मारेगी।

यह भी पढ़ें— नया खुलासा : पंजाब नेशनल बैंक से भी बड़ी लूट गुजरात में, 5 पूंजीपतियों ने किया 26 हजार 500 करोड़ का नया बैंक घोटाला

इस संबंध में न्यूज एजेंसी एएनआई ने पीएनबी महाघोटाले में आरोपी बनाए गए अर्जुन पाटिल की पत्नी सुजाता पाटिल की तरफ से ट्वीट किया है, 'मेरे पति दस साल से काम कर रहे हैं वहां, कुछ लोगों की तरह वो भी पेपरवर्क करते थे। नीरव मोदी इन सबके लिए जिम्मेदार है, उसको मेरे सामने लाओ, वो आयेगा तो मैं उसे चप्पल से मारूंगी।'

ये भी पढ़ें — फेंकूलॉजी : देश चाह रहा नीरव मोदी पर चर्चा लेकिन मोदी कर रहे परीक्षा पर परिचर्चा

अर्जुन पाटिल सीनियर एग्ज़िक्यूटिव के बतौर नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार में काम कर रहा था।

अर्जुन पाटिल की पत्नी कहती है कि उसके पति तो सिर्फ अपना काम कर रहे थे, असली मुजरिम तो नीरव मोदी है। उसने मेरा घर तबाह कर दिया है। खुद तो इतना बड़ा फ्रॉड कर देश छोड़कर भाग गया है, मगर मेरे पति जैसे वहां काम करने वाले लोगों को गिरफ्तार कर उनके परिवार को सड़क पर आने को मजबूर कर गया है।

संबंधित खबर : कांग्रेस के समय नहीं पिछले साल मोदी सरकार में मिला नीरव मोदी को 11 हजार करोड़ का लोन

गौरतलब है कि 46 वर्षीय अरबपति आभूषण कारोबारी नीरव मोदी ने पीएनबी की मुंबई शाखा से धोखाधड़ी वाला गारंटी पत्र (एलओयू) हासिल कर अन्य भारतीय ऋणदाताओं से 11 हजार 360 करोड़ का विदेशी ऋण हासिल किया था। पीएनबी के एलओयू के आधार पर ही 30 बैंकों ने नीरव मोदी की कंपनियों को कर्ज दिया था।

यह भी पढ़ें — खुलासा : प्रधानमंत्री मोदी से दाओस में हुई थी भगोड़े नीरव मोदी की गुप्त मुलाकात

Next Story

विविध

Share it