Top
दुनिया

OIC ने कहा- भारत में बढ़ रहा इस्लामाफोबिया, मुस्लिम अल्पसंख्यकों की रक्षा के लिए कदम उठाए सरकार

Nirmal kant
20 April 2020 9:48 AM GMT
OIC ने कहा- भारत में बढ़ रहा इस्लामाफोबिया, मुस्लिम अल्पसंख्यकों की रक्षा के लिए कदम उठाए सरकार
x

इस्लामी सहयोग संगठन ने कहा- मुसलमानों से भेदभाव कर रही भारतीय मीडिया, देश में बढ़ रही हैं इस्लामाफोबिया की घटनाएं..

जनज्वार। इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) ने रविवार को भारत से अनुरोध किया कि वह अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के अधिकारों की रक्षा करने और देश में 'इस्लामोफोबिया' (इस्लाम धर्म के प्रति पूर्वाग्रह) की घटनाओं को रोकने के लिए तुरंत कदम उठाएं। ओआईसी के स्वतंत्र स्थायी मानवाधिकार आयोग (IPHRC) ने एक ट्वीट में यह भी कहा कि भारतीय मीडिया मुस्लिमों की नकारात्मक छवि बना रहा है और उनके साथ भेदभाव कर रहा है।

ट्वीट में ओआईसी ने कहा, 'ओआईसी-आईपीएचआरसी भारत सरकार से अनुरोध करता है कि वह भारत में बढ़ रहे ‘इस्लामोफोबिया’ को रोकने और मुस्लिम अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा के लिए तुरंत कदम उठाए।'

आईसी का यह बयान उसी दिन आया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर कहा कि कोरोना हमला करने से पहले धर्म, जाति, रंग, भाषा और सीमाएं नहीं देखता है।

हालांकि विदेश मंत्रालय ने इस बयान पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। पिछले सप्ताह अमेरिका के धार्मिक स्वंत्रतता आयोग (USCIRF) ने इसी तरह के दो बयान दिए थे। जिस पर विदेश मंत्रालय ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी।

संबंधित खबर : योगी के विधायक का फरमान, फैक्ट्री हो या बैंक कहीं भी हिंदुओं के साथ लाइन में नहीं लग पाएं मुसलमान

मेरिकी आयोग ने एक बयान में कमजोर धार्मिक समुदायों की रक्षा करने में विफलता के लिए" भारत, पाकिस्तान और कंबोडिया की आलोचना की थी। बकि दूसरे बयान में अमेरिकी धार्मिक स्वतंत्रता आयोग ने अहमदाबाद के एक अस्पताल में धर्म के आधार पर भेदभाव को लेकर प्रतिक्रिया दी थी।

Next Story

विविध

Share it