Top
आंदोलन

LIVE: जेएनयू में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल को सुरक्षा के बीच से निकाला गया

Vikash Rana
11 Nov 2019 7:18 AM GMT
LIVE: जेएनयू में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल को सुरक्षा के बीच से निकाला गया
x

जवाहर लाल नेहरू विश्वविधालय अपना तीसरा दीक्षांत समारोह मनाने जा रहा है जिसमें उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' बतौर अतिथि पहुंचे हैं....

जनज्वार, दिल्ली। दिल्ली के जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय के स्टुडेंट्स बीते पंद्रह दिनों से विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र फीस में हुई बढ़ोत्तरी, प्रवेश का समय निर्धारित करने और हॉस्टल मैनुअल जैसे मुद्दों पर अड़े हुए हैं। वहीं दूसरी ओर विश्वविद्यालय अपना तीसरा दीक्षांत समारोह मना रहा है। महंगी फीस के बढ़ोत्तरी के बीच दीक्षांत समारोह होने पर विरोध में स्टुडेंट्स ने रैली निकाली। समाचार एजेंसी 'एएनआई' के मुताबिक इस बीच प्रदर्शनकारी छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया है।

स बार के दीक्षांत समारोह में उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू और केंद्रीय मानव संसाध विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे हैं। समारोह का आयोजन कैंपस से बाहर वंसत कुंज में ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एसआईसीटीई) के ऑडिटोरियम में किया जा रहा है। प्रशासन ने कैंपस के ऑडिटोरियम में जगह की कमी के चलते कैंपस के बाहर दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस बार के दीक्षांत समारोह में जेएनयू के पूर्व छात्र निर्मला सीतारमण और एस जयशंकर को भी सम्मानित किया जाना है।

जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन की नेतृत्व में रैली का आयोजन किया जा रहा है। स्टुडेंट्स की मांग है कि फीस बढ़ोतरी के फैसले को वापस लिया जाए। रैली में जुटे स्टूडेंट्स का कहना है कि जब बच्चों को शिक्षा नहीं मिल रही है तो स्टूडेंट्स को दीक्षांत समारोह क्यों होना चाहिए। स्टूडेंट्स का कहना है कि हम लोगों से हॉस्टल में कोई सर्विस चार्ज नहीं लिया जाए, ना ही कोई हॉस्टल में 'ड्रेस कोड' लागू किया जाए इसके अलावा उनकी मांग है कि प्रशासन हॉस्टल आने-जाने के टाइम में सख्ती को खत्म करे।

दीक्षांत समारोह को लेकर जेएनयू के छात्र अजहर बताते है कि जेएनयू में पढ़ने वाले अधिकतर बच्चों मे गरीब बच्चे है जो इतनी भारी भरकम फीस नहीं दे सकते। पिछले दो हफ़्ते से स्टूडेंट्स लगातार आंदोलन करे जा रहे है लेकिन अभी तक हमारी मांगों को माना नहीं गया ऊपर से पूरा विश्वविधालय विरोध कर रहा है। तो प्रशासन दीक्षांत समारोह करवा रहा है आखिर छात्रों की उपस्थिति के बिना कैसे दीक्षांत समारोह करवाया जा सकता है।

दिल्ली पुलिस ने ट्वीट कर के, 'नेल्सन मंडेला मार्ग से वंसत बिहार पुलिस थाने तक यातायात बधित होने की बात कही'

जेएनयू में प्रोफेसर वंदना मिश्रा के साथ हुई बदसलूकी छात्रों ने प्रोफेसर वंदमा का घेराव किया

#JNU में एक महिला प्रोफेसर के साथ इतनी बदसलूकी। यह तो छात्र आन्दोलन नही हो सकता। ताज्जुब नही होगा यदि यह कपड़े फाड़ने का प्रयास करने वाली वामपंथी विचारधारा की समर्थक छात्रा, कल महिला अधिकारों पर भाषणबाजी करते हुए दिखे। शर्मनाक !

जेएनयू में प्रदर्शन कर रही छात्राओं को महिला सुरक्षा बल ने खदेड़ा

Next Story

विविध

Share it