Top
उत्तर प्रदेश

लखनऊ में एक ही परिवार के 6 लोगों की हत्या से सनसनी, पूरे प्रदेश में अराजकता का राज है कायम

Raghib Asim
30 April 2020 4:01 PM GMT
लखनऊ में एक ही परिवार के 6 लोगों की हत्या से सनसनी, पूरे प्रदेश में अराजकता का राज है कायम
x

परिवार के छह लोगों की हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई। लोग घरों में दुबक गए और कोई आरोपित को रोकने के लिए आगे नहीं आ सका....

जनज्वार, लखनऊ। लखनऊ में बंथरा के ननकऊ गांव में गुरुवार देर शाम दुस्साहसिक वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई। एक युवक ने अपने ही परिवार के छह सदस्यों की हत्या कर दी। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक युवक ने अपने माता, पिता, भाई, भाभी, भतीजा और भतीजी की धारदार हथियार से हत्या की है। वारदात के बाद युवक थाने पहुंच गया था, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस का दावा है परिवारिक विवाद में हत्याए हुई हैं। आरोपित ने थाने में समर्पण कर दिया है।

बंथरा इलाके के गोदौली गांव निवासी अमर सिंह ने अपने दो बेटों अजय और अरुण के बीच कुछ साल पहले संपति का बंटवारा कर दिया था। बंटवारे के बाद से अजय का अरुण से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था। ग्रामीणों के मुताबिक गुरुवार 30 अप्रैल की शाम को अजय अपनी मां के पास गया था। इस दौरान घर में अजय की मां राम दुलारी, भाभी रामसखी, भतीजा सौरभ और भतीजी सारिका मौजूद थे। अजय ने घर में घुसते ही सबसे पहले अपनी मां पर धारदार हथियार से हमला बोल दिया।

ह देख रामसखी अपना व बच्चों की जान बचाने के लिए वहां से भाग निकली। शोरगुल सुनकर आसपास के लोग वहां पहुंचे, लेकिन अजय के हाथ में हथियार देख कोई उसे रोकने की हिम्मत नहीं कर सका। रामसखी खेत में कटाई कर रहे पति व ससुर के पास भागकर जाने लगी। इस बीच किसी ने अरुण को वारदात की सूचना दे दी।

रुण भागते हुए घर की तरफ जा रहा था, जहां गांव के ही प्रताप की बाग में उसे पत्नी व बच्चे मिल गए। सभी को बदहवास हालत में देखकर अरुण उन्हें शांत कराने लगा और घटना के बारे में जानकारी मांगी। इससे पहले कि रामसखी अजय की करतूत बताती आरोपित वहां पहुंच गया।

रुण, रामसखी और उसके बच्चों को सामने देखते ही आरोपित अजय ने उनपर हमला बोल दिया। नौ साल का सौरभ चीखते हुए इधर उधर उधर भागने लगा। वहीं तीन साल की सारिका दहाड़े मारकर रो रही थी। अजय ने पहले अरुण और फिर उसकी पत्नी पर ताबड़तोड़ वार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद हैवान बन चुके अजय ने दोनों मासूम बच्चों को भी नहीं बख्शा और उनकी हत्या कर दी।

भाई, भाभी व दो बच्चों की हत्या के बाद भी आरोपित का मन नहीं पसीजा और वह अपने पिता अमर सिंह की तलाश में खेतों की तरफ चला गया। घटना से अंजान अमर सिंह खेत में ही मौजूद थे, जिन्हें देखते ही अजय ने दौड़ा लिया। अमर सिंह खुद को बचाने के लिए भागने लगे, लेकिन ज्यादा दूर तक नहीं जा सके। अमर को अजय ने दबोच लिया और फिर ताबड़तोड़ वार कर उनकी जान ले ली।

रिवार के छह लोगों की हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई। लोग घरों में दुबक गए और कोई आरोपित को रोकने के लिए आगे नहीं आ सका। ग्रामीणों ने 112 पर फोन कर वारदात की जानकारी दी। हालांकि इससे पहले कि पुलिस गांव में पहुंचती आरोपित खुद ही थाने चला गया। खून से सने युवक को देखकर थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों के रौंगटे खड़े हो गए। पूछने पर युवक ने घटना की जानकारी दी, जिसके बाद उच्चाधिकारियों को वारदात के बारे में बताया गया। एसीपी दीपक कुमार सिंह के मुताबिक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ की जा रही है। अभी कई बातें स्पष्ट नहीं हो सकी हैं।

पुलिस ने आरोपित अजय सिंह की पत्नी को भी हिरासत में ले लिया है। पुलिस उससे घटना के बारे में पूछताछ कर रही है। ग्रामीणों ने वारदात में आरोपित की पत्नी व अन्य लोगों की संलिप्तता का शक जताया है। हालांकि अभी तक उनकी भूमिका स्पष्ट नहीं हो सकी है।

ग्रामीणों ने बताया कि अजय व अरुण में जमीन विवाद को लेकर पूर्व में विवाद हुआ था। मामला बढ़ता देख गांव में पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत में लोगों ने अजय को समझाया था। आरोप है कि अजय अरुण के हिस्से की जमीन हड़पना चाह रहा था, जिसके कारण वह बार बार भाई व पिता से उलझता था। कुछ दिन पहले अमर सिंह ने एक जमीन बेची थी, जिसपर अजय ने आपत्ति कर दी थी। काफी प्रयास के बाद इस मामले को शांत कराया गया था। इसके बाद से अजय अपने माता-पिता और भाई के परिवार से नाराज था।

Next Story

विविध

Share it