Top
अंधविश्वास

रामायण और हनुमान चालीसा सुनाकर भोपाल से कोरोना भगा रहा शिवराज का जनसंपर्क विभाग

Nirmal kant
4 May 2020 3:30 AM GMT
रामायण और हनुमान चालीसा सुनाकर भोपाल से कोरोना भगा रहा शिवराज का जनसंपर्क विभाग

जनसंपर्क विभाग की ओर से बताया गया है कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में क्वोरंटीन किए गए लोगों के लिए हनुमान चालीसा और रामायण का पाठ किया गया...

जनज्वार ब्यूरो, भोपाल। मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, उनमें से एक भोपाल भी है। यहां के लोगों में सक्रमण के प्रभाव को रोकने के लिए रामायण और हनुमान चालीसा का पाठ कराया जा रहा है।

राजधानी के क्वोरंटीन सेंटरों में ऐसे लोगों को रखा गया है, जो संक्रमण का कारण बना सकते हैं अथवा वे किसी दूसरे स्थान से लौटे हैं। वहीं कुछ ऐसे लोग भी क्व रंटीन किए गए हैं, जिन्हें सर्दी, जुकाम या अन्य दूसरे तरह की समस्याएं हैं।

संबंधित खबर : मुंबई से साइकिलों पर सवार होकर 10 दिन बाद चित्रकूट लौटे 18 मजदूर

न क्वोरंटीन सेंटरों में निवासरत लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए रामायण, हनुमान चालीसा के पाठ और भजन संध्या जैसे साधनों का सहारा लिया जा रहा है और यह जिम्मेदारी राज्य के जनसंपर्क विभाग को सौंपी गई है।

विभाग की ओर से बताया गया है कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में क्वोरंटीन किए गए लोगों के लिए हनुमान चालीसा और रामायण का पाठ किया गया। पुलिस विश्राम स्थल में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के लिए गुलशन गार्डन में आर्केस्ट्रा, हनुमान चालीसा, वहीं सजावट गार्डन एवं लैडमार्क गार्डन में भजन संध्या, रामायण पाठ के आयोजन प्रतिदिन किए जा रहे हैं। इन सेंटरों पर क्वोरंटीन किए गए लोगों को फिल्में भी दिखाई जा रही हैं।

संबंधित खबर : कोरोना के कारण पति फंसे राजस्थान में, भोपाल में दृष्टिहीन महिला बैंककर्मी से घर में घुसकर दुष्कर्म

विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस विषम परिस्थिति में लोगों के मन में हनुमान चालीस का यह दोहा 'नासे रोग हरे सब पीड़ा, जपत निरंतर हनुमंत वीरा' अर्थात रोग से मुक्ति दिलाने वाले हनुमान चालीसा का यह मंत्र संकटमोचन के रूप में लोगों में इस महामारी से जंग जीतने का मन में विश्वास और शक्ति प्रदान कर रहा है। कोरोना महामारी से जंग जीतने में इस तरह के आयोजन कारगर सिद्घ हो रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it