Top
मध्य प्रदेश

मुंबई से साइकिलों पर सवार होकर 10 दिन बाद चित्रकूट लौटे 18 मजदूर

Nirmal kant
2 May 2020 4:30 AM GMT
मुंबई से साइकिलों पर सवार होकर 10 दिन बाद चित्रकूट लौटे 18 मजदूर

चित्रकूट जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि मुंबई से लौटे सभी 18 मजदूर युवकों की जिला अस्पताल में थर्मल स्क्रीनिंग की गई है और उनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं...

जनज्वार ब्यूरो, चित्रकूट। कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन से मुंबई में बेरोजगार हुए 18 मजदूर युवक साइकिल पर सवार होकर गुरुवार 30 अप्रैल को चित्रकूट जिला लौट आए। यहां चिकित्सीय जांच के बाद उन्हें 14 दिन के लिए एकांतवास में रखा गया है और उनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

संबंधित खबर: मध्यप्रदेश- बैतूल में 7 लोगों ने भाई को कुएं में फेंका, फिर लड़की से किया सामूहिक दुष्कर्म

र्वी सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) अनिल कुमार सिंह ने शुक्रवार 1 मई को बताया कि चित्रकूट जिले के गांवों के 18 मजदूर युवक मुंबई में मजदूरी कर रहे थे, जो लॉकडाउन होने पर बेरोजगार हो गए और वे सभी साइकिल की सवारी कर गुरुवार को जिले की सीमा पर दाखिल हुए। उन्हें चिकित्सीय परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

क्षेत्र के ओरा गांव के मजदूर युवक राजू, धीरेंद्र, अमरदीप, छोटू व सुशील के हवाले से एसएचओ ने बताया कि सभी मजदूर 21 अप्रैल को साइकिल की सवारी कर मुंबई से रवाना हुए और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल तक आए। यहां पुलिसकर्मियों ने उन्हें मध्य प्रदेश के कटनी तक एक ट्रक में बैठा दिया, फिर कटनी से साइकिल द्वारा गुरुवार 30 अप्रैल को चित्रकूट जिले की सीमा में दाखिल हुए।

संबंधित खबर: उज्जैन में फुटपाथ पर सो रहे 12 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा 3 की मौत, दिग्विजय सिंह ने शिवराज को ठहराया जिम्मेदार

चित्रकूट जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. विनोद कुमार ने बताया, 'मुंबई से लौटे सभी 18 मजदूर युवकों की जिला अस्पताल में थर्मल स्क्रीनिंग की गई है और उनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। फिलहाल उनकी रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है और सभी युवकों को एकांतवास में रखा गया है।'

Next Story

विविध

Share it