Top
आंदोलन

देशभर में आयोजित किसानों के 'गांव बंद आंदोलन' को देवरिया के किसानों का समर्थन

Janjwar Team
9 Jun 2018 5:04 PM GMT
देशभर में आयोजित किसानों के गांव बंद आंदोलन को देवरिया के किसानों का समर्थन
x

योगी सरकार के नाम अपनी मांगों को लेकर तैयार किया एक ज्ञापन, कहा अब किसान प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी की चालों में फंसने वाले नहीं हैं...

देवरिया, जनज्वार। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के क्षेत्र गोरखपुर के बगल वाले जनपद देवरिया जिले में चीनी मिल चलाओ संघर्ष समिति के बैनर तले देशभर के किसानों द्वारा आयोजित 'गांव बंद आंदोलन' को समर्थन देने के लिए यहां के किसानों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक कार्यक्रम आयो​जित किया गया।

इस दौरान किसानों ने 'चीनी मिल चलाओ संघर्ष समिति' की अगुवाई में बैतालपुर चीनी मिल चलाए जाने के संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम एक ज्ञापन पत्र भी तैयार किया, जो उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपा जाएगा।

कार्यक्रम में सरकार से आर—पार की लड़ाई को समर्थन देने के लिए एक बड़ी संख्या में महिलाएं और किसान उपस्थित रहे। कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने भारतवर्ष में चलाये जा रहे किसान आन्दोलन का समर्थन में निर्णय लिया गया।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान सरकारों ने चीनी का कटोरा कहे जाने वाले उत्तर प्रदेश को हमेशा हमेशा के लिए उद्योगपतियों के हाथों गिरवी रख दिया है। सरकारों द्वारा प्रदेश की समस्त चीनी मिलों को औने दामों में बेच दिया गया और किसानों को उनके गन्ने का भुगतान अभी तक नहीं हो पाया।

गन्ना समेत अन्य किसान भुखमरी की कगार पर हैं। सरकार ने सपरिवार किसानों को आत्मदाह करने के लिए विवश कर दिया है। मगर अब किसान प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी की चालों में फंसने वाले नहीं हैं। किसान अपने अधिकार के लिए सरकारों को मुहतोड़ जवाब देने को तैयार हैं। इसलिए किसान इतनी भारी संख्या में 'गांव बंद आंदोलन' के समर्थन में यहां इकट्ठा हैं।

ब्रजेन्द्र मणि त्रिपाठी की अगुवाई में आयो​जित किसान आन्दोलन में अवधेश मणि, लोक अधिकारी संगठन के नेता चतुरानन ओझा, किसान नेता शिवाजी राय, रामप्रकाश सिंह दरोगा, यादव सुरेश सिंह, अनिल पति त्रिपाठी, बकरीददन उर्फ बरकत अली, ममता देवी, सुनीता, रंजीता देवी, ज्ञान्ती देवी, चम्पा देवी, रागिनी देवी सहित सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

Next Story

विविध

Share it