Top
आर्थिक

पी चिदंबरम ने आखिर क्यों कह दिया प्रधानमंत्री के आर्थिक पैकेज को 'कोरा कागज'

Nirmal kant
13 May 2020 11:31 AM GMT
पी चिदंबरम ने आखिर क्यों कह दिया प्रधानमंत्री के आर्थिक पैकेज को कोरा कागज
x

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार 12 मई की शाम देश के नाम एक संबोधन में सकल घरेलू उत्पाद के 10 प्रतिशत यानि कि 20 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की है...

जनज्वार ब्यूरो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश को आत्मनिर्भर बनाने और स्थितियों को सुधारने के लिए एक बड़े वित्तीय पैकेज की घोषणा के एक दिन बाद पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने कहा कि इस कदम पर उनकी प्रतिक्रिया खाली है, क्योंकि कल प्रधानमंत्री ने हमें खबर की एक हेडलाइन और एक कोरा पन्ना दिया।' उन्होंने बुधवार को एक बयान में कहा, 'स्वाभाविक रूप से मेरी प्रतिक्रिया भी खाली है।'

संबंधित खबर : कोरोना के दौर में मजदूरों को मौत के मुंह से निकालने का एकमात्र उपाय है यूनिवर्सल बेसिक इनकम

पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि कल प्रधानमंत्री ने हमें एक हेडलाइन और एक खाली पेज दिया। स्वाभाविक रूप से मेरी प्रतिक्रिया भी खाली थी! आज हम उस खाली पन्ने को भरने के लिए वित्तमंत्री की तरफ देख रहे हैं। हम ध्यान से हर उस अतिरिक्त रुपए को गिनेंगे जो सरकार वास्तविक रूप से अर्थव्यवस्था में डालेगी।

कहा, 'हम यह भी ध्यान से जांच करेंगे कि किसे क्या मिलता है? पहली चीज यह है कि गरीब, भूखे और तबाह प्रवासी मजदूर सैकड़ों किलोमीटर चलने के बाद क्या उम्मीद कर सकते हैं? हम यह भी जांचेंगे कि निचले तबके की जनसंख्या (13 करोड़ परिवारों) को वास्तविक धन के मामले में क्या मिलेगा?'

संबंधित खबर : गीता गोपीनाथ ने कहा- कोरोना राहत के लिए मात्र 1 प्रतिशत GDP खर्च कर रहा भारत, इसे बढ़ाने की जरूरत

राष्ट्र के नाम एक संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की रात 8 बजे 'विकास की एक बड़ी छलांग' के लिए नए बुनियादी ढांचे और तर्कसंगत कर प्रणालियों के बारे में बात की। इसके अलावा उन्होंने सकल घरेलू उत्पाद के 10 प्रतिशत यानि कि 20 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की।

ससे पहले चिदंबरम ने था कि हम अंतर राज्य यात्री ट्रेनों के संचालन को सावधानीपूर्वक शुरू करने के सरकार के निर्णय का स्वागत करते हैं। सड़क परिवहन और हवाई परिवहन को भी ऐसे ही सधारण तरीके से शुरू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि आर्थिक और वाणिज्यिक गतिविधि को शुरू करने का एकमात्र तरीका प्रभावी रूप से यात्रियों और वस्तुओं के लिए सड़क, रेल और हवाई सेवाओं को खोलना है।

Next Story

विविध

Share it