Top
समाज

जुएं में दांव पर लगा दी बीवी, जीतने वालों ने किया गैंगरेप

Prema Negi
2 Aug 2019 5:01 AM GMT
जुएं में दांव पर लगा दी बीवी, जीतने वालों ने किया गैंगरेप
x

शराबी पति ने जुए में रुपये खत्म होने पर अपनी पत्नी को ही दांव पर लगा दिया, हारने पर उसके दोस्तों ने पत्नी के साथ किया सामूहिक बलात्कार, शिकायत पर पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई तो पीड़िता पहुंची कोर्ट....

जनज्वार। 158 साल पुराने अडल्ट्री या व्यभिचार कानून को निरस्त करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि औरत अपने पति की संपत्ति नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने संभवतः पहली बार इतने स्पष्ट ढंग से रेखांकित किया है कि देह स्त्री की संपत्ति है और उसे इसके बारे में फैसला करने का अधिकार है।

पुरुष की तरह स्त्री भी स्वाधीन है। शादी उसे सामाजिक और नैतिक बंधन में बांधती जरूर है, लेकिन दोनों का एक स्वायत्त व्यक्तित्व भी है। इसके बावजूद समाज का बहुतायत पत्नी को अपनी सम्पत्ति समझते हैं और जुएं में उसे दांव पर लगा देते हैं।

सा ही मामला उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में सामने आया है, जहां पर एक पति ने पत्‍नी को भी जुए में दांव पर लगा दिया। जिनसे व​ह जुए में हारा, उनको दो बार अपनी पत्‍नी दुष्‍कर्म के लिए सौंप दी। पीड़िता ने पति और उसके दोस्तों के खिलाफ पुलिस से गुहार लगाई। महिला थाने से सुनवाई नहीं हुई तो वह कोर्ट पहुंच गई। कोर्ट के निर्देश पर कल 1 अगस्त को जफराबाद पुलिस ने महिला के पति और दुराचार करने वाले दोनों दोस्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।

जानकारी के मुताबिक यह मामला जौनपुर जिले के जफराबाद थाना क्षेत्र का है, जिसमें शराबी पति ने जुए में रुपये खत्म होने पर लगभग आठ माह पहले दिसंबर में अपनी पत्नी को ही दांव पर लगा दिया। हारने पर उसके दोस्तों ने पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

ब अदालत के हस्तक्षेप के बाद एसीजेएम पंचम ने आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया। कोर्ट के आदेश पर जफराबाद थाने में प्राथमिकी दर्ज कर कापी कोर्ट में दाखिल की गई।

फराबाद थाना क्षेत्र निवासी महिला ने कोर्ट में दरख्‍वास्‍त की है कि उसकी शादी शाहगंज में हुई थी। उसका पति शराबी और जुआरी है। ससुराल में रहने के दौरान उसके मित्र अरुण व रिश्तेदार अनिल प्राय: घर पर आते थे और शराब व जुआ का दौर चलता रहता था। एक दिन रुपये खत्म होने पर पति ने पत्‍नी को ही दांव पर लगा दिया और हार गया। पत्‍नी को हारने के बाद अरुण और अनिल ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

पमान से आहत होकर वह अपने अपने मायके चली गई थी। 9 दिसंबर, 2018 को पति ने वहां आकर क्षमा मांगते हुए कहा कि अब ऐसी गलती नहीं होगी। क्षमा मांगने पर पीड़ित महिला पति के साथ गाड़ी में बैठकर ससुराल के लिए रवाना हुई। बीच में पति ने गाड़ी रोककर अरुण व अनिल को एक बार फिर बैठा लिया। पीड़ित महिला के मुताबिक पति के दोनों दोस्तों ने जुए में हारी होने की वजह से फिर स बारी-बारी से उसके साथ गाड़ी में ही सामूहिक दुष्कर्म किया।

स मामले में थाना व एसपी को शिकायत के बावजूद पति और दुष्‍कर्म के आरोपितों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। कोर्ट ने प्रथम दृष्टया इसे गंभीर मामला पाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। थाना जफराबाद में आरोपितों के खिलाफ दुष्‍कर्म के मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

Next Story

विविध

Share it