Top
समाज

जीजा को पेड़ से बांधकर साली के साथ सामूहिक बलात्कार, पीड़िता गयी थाने में रिपोर्ट लिखवाने तो पुलिस ने भगा दिया

Prema Negi
2 Nov 2019 6:03 PM GMT
जीजा को पेड़ से बांधकर साली के साथ सामूहिक बलात्कार, पीड़िता गयी थाने में रिपोर्ट लिखवाने तो पुलिस ने भगा दिया
x

जीजा को पेड़ पर बांधकर 6 लोगों ने युवती से किया गैंगरेप, पीड़िता शिकायत करने पहुंची थाने तो पुलिस ने जलील करते हुए भगा दिया, मगर जब बलात्कारियों ने कर दिया सोशल मीडिया पर वायरल तो पुलिस ने आनन-फानन में किया मुकदमा दर्ज...

जनज्वार। महिला अपराधों में भारत ने कीर्तिमान स्थापित किया हुआ है और इस कीर्तिमान में चार चांद लगाने का काम किया है संसद में सबसे ज्यादा उ​पस्थिति दर्ज कराने वाले राज्य उत्तर प्रदेश ने। बलात्कार में भी यह नंबर वन की कुर्सी पर विराजमान है, खासकर योगीराज में तो इसने महिला अपराधों में बाढ़ लाने का काम किया है।

हिला अपराध वैसे ही यहां बहुत ज्यादा हैं, उस पर शासन—प्रशासन की शह मिल जाये तो क्या कहना। बलत्कृत महिला थाने में शि​कायत दर्ज कराने पहुंच भी जाये तो उसके साथ ऐसा व्यवहार होता है कि वह दोबारा वहां जाने की हिम्मत न करे। हाल में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, यूपी के चित्रकूट से। यहां गैंगरेप की शिकायत करने थाने पहुंची पीड़ित महिला को पुलिस ने भगा दिया। अब सोशल मीडिया पर रेप का वीडियो बलात्कारियों द्वारा ही वायरल करने के बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज की है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जनपद स्थित मऊ थाना क्षेत्र की एक महिला के साथ चार दिन पूर्व उसके जीजा को पेड़ पर बांधकर 6 लोगों ने गैंगरेप किया। उसके बाद बलात्कार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया, तब जाकर पुलिस हरकत में आई और बलात्कार आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है, जबकि महिला खुद के साथ हुए सामूहिक बलात्कार के बाद पुलिस के पास थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची थी, जिसे पुलिस ने जलील करते हुए भगा दिया था।

गैंगरेप मामले में मऊ थाना प्रभारी अरुण पाठक ने आज 2 नवंबर को मीडिया को बताया, ‘सोशल मीडिया पर सामूहिक बलात्कार का एक वीडियो वायरल हो रहा है। मामले के छह आरोपियों में से चार की वीडियो के आधार पर पहचान हो चुकी है। बलात्कार पीड़िता की तहरीर के आधार पर विक्की गर्ग, कुलदीप, डीजे और कारतूस के अलावा दो अन्य अज्ञात नकाबपोश युवकों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार, लूटपाप और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर पुलिस उनकी तलाश कर रही है।'

पुलिस का कहना है कि 14 सेकेंड का सामूहिक बलात्कार का वीडियो 28 अक्टूबर का है। यह घटना तब हुई जब 24 साल की एक महिला अपने जीजा के साथ रिश्तेदारी में कहीं जा रही थी, तभी रास्ते में छह युवकों ने हथियार दिखाकर उन्हें रोका और लूटपाट का विरोध करने पर जीजा को पेड़ से बांधकर उसी के सामने साली के साथ सामूहिक बलात्कार किया। पुलिस का कहना है कि इस मामले में पीड़िता को मेडिकल के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया।

हीं बलात्कार पीड़ित महिला का कहना है, 'मेरे साथ हुए जघन्य सामूहिक बलात्कार कांड के बादे में मैंने उसी दिन यानी 28 अक्टूबर को ही पुलिस को सूचित कर दिया था। घटना के ही दिन मऊ थाना पहुंच कर मौखिक तौर पर पूरी जानकारी पुलिस को दी थी, मगर थाने से मुझे डांट कर भगा दिया गया। मेरे बलात्कार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मैं खुद पुलिस अधीक्षक से मिली, तब जाकर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।'

Next Story

विविध

Share it