Top
आंदोलन

इलाहाबाद में CAA-NRC विरोधी प्रदर्शनकारी महिलाओं को मिला साधु-संतों का समर्थन

Vikash Rana
22 Jan 2020 2:25 PM GMT
इलाहाबाद में CAA-NRC विरोधी प्रदर्शनकारी महिलाओं को मिला साधु-संतों का समर्थन
x

CAA और NRC का विरोध करने वाली महिलाओं के समर्थन में जो साधुओं की मंडली पहुंची, उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा लागू किया गया CAA कानून किसी के लिए नहीं है सही...

इलाहाबाद से मनीष भारद्वाज की रिपोर्ट

जनज्वार। देश भर में CAA और NRC के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। इसी दौरान पिछले 11 दिनों से CAA और NRC के खिलाफ प्रयागराज की रोशन बाग स्थित मंसूर अली पार्क में विरोध-प्रदर्शन किया जा रहा है। CAA और NRC के खिलाफ ज्यादातर महिलाएं हाथों में पोस्टर और बैनर लेकर इसका विरोध कर रही हैं। महिलाओं की मांग है कि सरकार नागरिकता संबंधी जो कानून लेकर आई हैं, उसे जल्द खत्म कर दिया जाए।

स विरोध के क्रम में धरना को समर्थन देने के लिए मंगलवार 22 जनवरी को माघ मेले से एक साधुओं का जत्था भी मंसूर अली पार्क पहुंचा। जहां साधुओं ने बुद्धि-शुद्धि यज्ञ भी किया, साथ ही अलग अलग इलाकों से नारे लगाते हुए महिलाओं के पास पहुंचे।

संबंधित खबर: CAA-NRC के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में योगी के इशारे पर हिंसा फैला रही है यूपी पुलिस : प्रशांत भूषण

CAA और NRC के विरोध करने वाली महिलाओं के समर्थन में जो साधुओं की मंडली पहुंची थी, उसमें संत संतोष आनंद महाराज, सुधाकर आचार्य, श्याम सुंदर महाराज, ब्रह्मचारी जी महाराज आदि ने कहा कि सरकार के द्वारा लागू किया गया CAA कानून किसी के लिए सही नहीं है। इस दौरान पार्क में मौजूद महिलाएं CAA को निरस्त करने के लिए लगातार नारे लगाती रहीं।

सी दौरान मंगलवार 22 जनवरी की दोपहर को प्रयागराज एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव भी मंसूर अली पार्क में धरना स्थल पर पहुंचे और आंदोलन कर रही महिलाओं और पुरुषों को धरना खत्म करने की अपील की। साथ ही SP बृजेश श्रीवास्तव ने वहां मौजूद लोगों से उनकी बात सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन भी दिया।

यह भी पढ़ें : अमित शाह ने खुलेआम किया चैलेंज : डंके की चोट पर कह रहा हूं, वापस नहीं होगा CAA

ब से पूरे देश में दिल्ली के शाहीनबाग में विरोध करने वाली महिलाओं पर 500 रुपए लेकर विरोध करने की बात की गई है, उसके बाद से ही प्रयागराज के मंसूर अली पार्क में स्थानीय मुस्लिमों द्वारा सुरक्षा बढ़ा दी गई है। किसी भी आम या गैर मुस्लिम को पार्क में जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। आंदोलन कर रही महिलाओं को लगातार विभिन्न संगठनों का सहयोग मिल रहा है।

आंदोलन कर रहे एक युवक ने नाम न बताने कि शर्त पर बताया, पार्क में जगह-जगह पर कैमरे लगवा दिए गए हैं। साथ ही हर जगह पर यह पोस्टर भी लगवा दिया गया है कि विरोध के नाम पर किसी को भी चंदा न दें।

संबंधित खबर: CAA : पुलिस ने मुनव्वर राना की बेटियों समेत 100 से अधिक प्रदर्शनकारी महिलाओं के खिलाफ दर्ज किया ‘दंगा कराने’ का केस

स्थानीय युवक ने यह भी बताया कि कई बार पुलिस वाले इस चीज की भी खोज करती रहती है कि आखिर इन कैमरों को लगाने में किसने इनकी मदद की और इनका संचालन कहां से किया जा रहा है। जब युवक से पूछा गया कि ये कैमरे किसके सहयोग से लगाए गए हैं? तो युवक का कहना था कि ये सभी कैमरे आपसी सहयोग से लगवाए गए हैं, ताकि विरोध कर रहे लोगों पर किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो।

गर प्रदर्शनकारियों को किसी तरह की कोई परेशानी होती है, तो इनके पास सच्चाई को जानने के लिए उसका प्रमाण रहेगा। इन सभी कैमरों का संचालन आसपास के ही किसी घर से किया जा रहा है। SP सिटी बृजेश श्रीवास्तव की अपील के बाद भी लगातार विरोध-प्रदर्शन जारी है, आसपास के मुस्लिम बहुल इलाके होने की वजह से पुलिस किसी भी बलपूर्वक कार्रवाई करने से बच रही है।

यह भी पढ़ें : इलाहाबाद के रोशनबाग में CAA-NRC खिलाफ महिलाओं का 7 दिनों से 24 घंटे धरना-प्रदर्शन जारी

रोशन बाग से लगे इलाकों में चौक, अटाला, करेली ये सभी प्रयागराज के मुस्लिम बहुल इलाके हैं। ऐसे में सरकार और प्रशासन के पास फिलहाल अपील के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं धरना-प्रदर्शन को खत्म करवाने का दिख रहा है।

Next Story

विविध

Share it