Top
राजनीति

Breaking : यूपी के हाथरस में गैंगरेप और नृशंसता की शि​कार दलित लड़की की दिल्ली एम्स में मौत

Janjwar Desk
29 Sep 2020 4:30 AM GMT
Breaking :  यूपी के हाथरस में गैंगरेप और नृशंसता की शि​कार दलित लड़की की दिल्ली एम्स में मौत
x

जनज्वार। योगीराज में जुर्म चरम पर है। महिलाओं पर होने वाली हिंसा में तो कीर्तिमान ही स्थापित हो रहा है। प्रदेश के हाथरस के थाना चंदपा इलाके के गांव में 14 सितंबर को चार दबंग युवकों ने 19 साल की दलित लड़की के साथ बाजरे के खेत में गैंगरेप किया था। इतना ही नहीं उसकी जीभ तक काट दी थी। उस लड़की की इलाज के दौरान दिल्ली एम्स में आज सोमवार 29 सितंबर को मौत हो गयी है।

गैंगरेप और नृशंसता की शिकार लड़की की मौत की पुष्टि उसके भाई ने की है।

उन्नाव से हाथरस पहुंचे पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने भी जनज्वार से पीड़िता की मौत की पुष्टि की है। पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि आरोपी संदीप को घटना के दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में रामू और लवकुश को भी गिरफ्तार किया गया और शनिवार 26 सितंबर को चौथे आरोपी रवि को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। चारों आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है। जरूरत पड़ने पर धाराओं में तब्दीली की जा सकती है।

पीड़ित लड़की ने होश में आने पर यह भी बताया था कि आरोपियों ने उसकी जीभ काट दी थी, जिससे वह लोगों को घटना के बारे में ना बता सके। घटना के 9 दिन बीत जाने के बाद जब पीड़िता होश में आई थी तो अपने साथ हुई आपबीती अपने परिजनों को बताई। जब पीड़िता का डॉक्टरी परीक्षण हुआ तो इसमें गैंगरेप की पुष्टि होने के बाद हाथरस पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया गया। हालांकि इस मामले में यूपी पुलिस की लापरवाही भी सामने आई थी।

पीड़िता के परिजनों ने बताया था कि थाना चंदपा इलाके के इस गांव की जनसंख्या 450 के करीब है। इसमें 150 ठाकुर समाज के लोग और 150 के करीब ब्राह्मण समाज के लोग हैं। वहीं 150 के करीब अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोग हैं। गांव के अंदर ठाकुरों की दबंगई है। चारा काटते वक्त खेत में गैंगरेप 14 सितंबर को सोमवार सुबह साढ़े दस बजे दलित लड़की अपने मां और भाई के साथ पशुओं को चारा लेने के लिए खेतों पर घास लेने के लिए गई थी। उसी दौरान लड़की का भाई घास काटने के बाद चारा लेकर खेतों से घर चला गया था। इसके बाद पीड़िता की मां कुछ दूरी पर जाकर घास काटने लगी।

पीड़ित लड़की को अकेला पाकर गांव के रहने वाले चार युवक बाजरे के खेत में खींचकर ले गए। पीड़िता के हाथ-पैर काम नहीं कर रहे थे। डॉक्टरों ने कहा था कि पीड़िता के दोनों हाथ और दोनों पैरों ने काम करना बंद कर दिया है और उसकी हालत बहुत नाजुक बनी हुई थी। हालत बिगड़ने पर उसे दिल्ली एम्स में इलाज के लिए भर्ती किया गया था, जहां आज उसकी मौत हो गयी।

पीड़ित लड़की की मौत की जानकारी मिलते ही हाथरस में उपद्रव की आशंका के चलते पुलिस प्रशासन मुस्तैद हो चुकी है।

आरोपियों ने गैंगरेप करने के बाद युवती की जीभ काट दी थी। हाथरस में प्राथमिक के बाद उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए एडमिट करवाया गया था। यहां सोमवार 28 सितंबर को हालत खराब होने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था। जहां उसका इलाज चल रहा था। आज सुबह लड़की ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

घटना के बारे में पीड़िता ने मजिस्ट्रेट को दिए अपने बयान में कहा था कि चार युवकों ने उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और विरोध करने पर उसका गला घोंटने की कोशिश की, जिसमें पीड़िता की जीभ काट दी गई थी। पीड़िता ने चारों आरोपियों की पहचान संदीप, रामू, लवकुश और रवि के रूप में की थी।

पीड़िता को घटना के दूसरे दिन अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। वहां वह वेंटिलेटर पर थी और शुरुआत से ही उसकी हालत चिंताजनक थी। इस पर दो दिनों के मंथन के बाद कल ही उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था, जहां आज मंगलवार सुबह उसकी मौत हो गई।

Next Story

विविध

Share it