राजनीति

Dr. Udit Raj : भाजपा नेता ने कोयले से की कांग्रेस नेता उदित राज की तुलना, गिरफ्तारी की उठी मांग

Janjwar Desk
14 Oct 2021 9:58 AM GMT
Dr. Udit Raj : भाजपा नेता ने कोयले से की कांग्रेस नेता उदित राज की तुलना, गिरफ्तारी की उठी मांग
x
Dr Udit Raj : कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा कि वह भाजपा नेता के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराएंगे।

Dr. Udit Raj : भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और आरएसएस के समर्थक संतोष रंजन राय (Santosh Ranjan Rai) ने कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद डॉ. उदित राज (Dr. Udit Raj) को लेकर आपत्तिजनक रंगभेदी टिप्पणी की है। भाजपा नेता ने उनकी तुलना कोयले से की है। उनकी इस टिप्पणी की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हो रही है।

दरअसल संतोष रंजन ने अपने ट्वीट में लिखा है कि सरकार ने कह दिया है कि कोयले की कोई कमी नहीं है, फिर भी अगर कहीं कोयला की कमी हो तो डॉ. उदित राज का इंजन में उपयोग कर सकते हैं। भाजपा नेता ने यह ट्वीट बुधवार 13 अक्टूबर को किया है।

इससे पहले डॉ. उदित राज (Dr. Udit Raj) ने एक ट्वीट में कहा था- 'झूठी सरकार कह रही थी कि कोयला की कोई कमी नही है। सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी अथॉरिटी की रिपोर्ट के अनुसार 135 पावर प्लांट में से 17 के पास एक दिन का कोयला नही है। अडानी की सरकार है!'

डॉ. उदित राज कांग्रेस (Congress) में आने से पहले भाजपा में ही थे। कांग्रेस में वह अब पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। वह एक ऐसे पूर्व आईआरएस अधिकारी (Ex IRS Officer) हैं जिन्होंने दलित अधिकार कार्यकर्ता के रूप में काम किया और बाद में राजनेता के रूप में अधिक समय देने के लिए अपनी सरकारी नौकरी छोड़ दी थी। उदित राज ने सबरंग इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि वह सोशल मीडिया पर इस तरह के कई केंद्रित हमलों का निशाना रहे हैं और उन्हें नियमित रूप से धमकियां मिली हैं।

डॉ. राज ने कहा, "मैंने पार्टी को सतर्क कर दिया है और मैं पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराऊंगा। उन्होंने आगे कहा, मैं आरएसएस-भाजपा (RSS BJP) द्वारा सबसे ज्यादा नफरत किए जाने वाला व्यक्ति हूं। आप सोशल मीडिया पर मेरे खिलाफ दो साल की जंग और यहां तक कि मीडिया के बहिष्कार को देख सकते हैं। डॉ. राज के मुताबिक, राहुल गांधी के अलावा और कई लोग सीधे तौर पर मोदी और अमित शाह के खिलाफ ट्वीट नहीं करते। मैं उन्हें सीधा निशाना बनाता हूं।

डॉ. उदित राज ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा (BJP) ने मीडिया को उनका बहिष्कार करने और उन्हें टीवी डिबेट में न बुलाने का निर्देश दिया है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, एएनआई ने मुझे ब्लैकलिस्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने एएनआई के खिलाफ ट्वीट किया था। मुझे लगता है कि अमित शाह ने एक संदेश भेजा है कि मैं एक हार्डलाइनर हूं। उनके (भाजपा) पास कितनी ताकत है, वह यह भी कंट्रोल कर सकते हैं कि विपक्ष में से कौन टीवी दिखाई दे।

सोशल मीडिया पर रिएक्शन

लेखक अशोक कुमार पांडेय ने अपने ट्वीट में लिखा- नस्लभेद और दलितों के प्रति अपमान संघ की जीन में है। एक पूर्व नौकरशाह, पूर्व एम पी और वरिष्ठ नेता श्री उदित जी के लिए इस निंदनीय नस्लभेदी टिप्पणी पर क़ानूनी कार्यवाही होनी चाहिए।

वहीं वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष नितिन राउत को टैग करते हुए लिखा है- सवाल ये है कि क्या कांग्रेस अपने नेता के पक्ष में खड़े होकर आपराधिक-नस्लवादी संघी मानसिकता के इस आदमी के ख़िलाफ़ विरोध करेगी? मुक़दमा दर्ज कराएगी? या फिर सब कुछ चलता है?

वहीं लेखक व ब्लॉगर हंसराज मीणा ने अपने ट्वीट में लिखा- मैं ट्विटर इंडिया से अपील करता हूं कि जातिवादी संघी संतोष रंजन का अगले 24 घंटे में अकाउंट बंद हो जाना चाहिए। साथ में सीएम नीतीश कुमार जी से भी अनुरोध करता हूं ये व्यक्ति अगले 24 घंटे में जेल में होना चाहिए। एक दलित नेता पर इस प्रकार की जातीय, नस्लीय टिप्पणी असहनीय है।


Next Story

विविध

Share it