राजनीति

Har Ghar Tiranga : भाजपा की तिरंगा यात्रा कहीं बन न जाए दंगा यात्रा, विपक्षी दलों ने जताई आशंका

Janjwar Desk
6 Aug 2022 7:49 AM GMT
Har Ghar Tiranga : भाजपा की तिरंगा यात्रा कहीं बन न जाए दंगा यात्रा, विपक्षी दलों ने जताई आशंका
x

Har Ghar Tiranga : भाजपा की तिरंगा यात्रा कहीं बन न जाए दंगा यात्रा, विपक्षी दलों ने जताई आशंका

Har Ghar Tiranga : तिरंगा यात्रा पर विपक्ष ने भारतीय जनता पार्टी को घेरते हुए निभाना साधा है, विपक्ष का कहना है कि बीजेपी अपनी तिरंगा यात्रा दंगा यात्रा में भी बदल सकती है...

Har Ghar Tiranga : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर देशभर में भारतीय जनता पार्टी हर घर तिरंगा अभियान चला रही है। इस दौरान भाजपा तिरंगा यात्रा भी निकाल रही है। वहीं इस तिरंगा यात्रा पर विपक्ष ने भारतीय जनता पार्टी को घेरते हुए निभाना साधा है। विपक्ष का कहना है कि बीजेपी अपनी तिरंगा यात्रा, दंगा यात्रा में भी बदल सकती है। वहीं इस कड़ी में अखिलेश यादव भी भाजपा की तिरंगा यात्रा पर हमलावर हुए हैं। अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा तिरंगा यात्रा दंगा यात्रा के जरिए दंगा भी करवा सकती है।

तिरंगा यात्रा में बीजेपी करवा सकती है दंगा

वरिष्ठ समाजवादी नेता स्व. जनेश्वर मिश्र की जयंती के अवसर पर सपा मुखिया अखिलेश यादव जनेश्वर मिश्र पार्क में उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने पहुंचे थे। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि तिरंगा फहराने का जो कार्यक्रम चल रहा है, इसको लेकर मैं सावधान करना चाहूंगा। ये भारतीय जनता पार्टी (BJP) तिरंगा के साथ दंगा भी फैला सकती है। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा तिरंगा यात्रा के साथ-साथ समाज में ऐसी घटना भी करा सकती है, जिससे समाज में दूरियां बन जाएं।

तिंरगा यात्रा के नाम पर करवाया था हिंदू मुस्लिम में दंगा

सपा मुखिया ने कासगंज घटना का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी के लोगों ने तिरंगा यात्रा के नाम पर वहां पर हिंदू मुसलमान का दंगा कराया था। बीजेपी के लोग तिरंगा यात्रा तो इसलिए निकाल रहे है, क्योंकि उनकी जो पार्टी निकली है, उसने कभी तिरंगा नहीं लगाया। साथ ही उन्होंने कहा लखनऊ में सबसे ऊंचा तिरंगा जनेश्वर मिश्र पार्क में लगा हुआ है। समाजवादियों ने तिरंगा झंडा एक जगह नहीं लगाया है, जनेश्वर मिश्र पार्क के साथ-साथ और जगह भी झंडा लगाया है। बीजेपी के लोग सिर्फ धोखा देने का काम करते हैं।

भाकपा की राज्य इकाई ने भी जताई दंगे की आशंका

भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने कहा है कि 'अमृत काल' में तिरंगा यात्राएं दंगा यात्राओं में न परिणत हो जाएं और आजादी के 75वें साल का जश्न शांतिपूर्वक मने, सरकार इसे सुनिश्चित करें।

राज्य सचिव सुधाकर यादव ने आज जारी बयान में कहा कि साल 2018 में योगी सरकार थी और कासगंज में गणतंत्र दिवस के मौके पर विहिप आदि संगठनों ने जानबूझकर उन्हीं रिहाइशी इलाकों से तिरंगा यात्राएं निकाली थीं, जो प्रशासनिक तौर पर साम्प्रदायिक रुप से संवेदनशील थे। कासगंज दंगा भुला नहीं है। इस तरह की किसी घटना की पुनरावृत्ति न हो, सरकार को इसकी जवाबदेही लेनी चाहिए।

माले नेता ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के क्रम में 'हर घर तिरंगा' और 'हर घर की छत पर तिरंगा' फहराने के आधिकारिक आह्वान पर कहा कि सरकार को तिरंगे का निःशुल्क वितरण करना चाहिए। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में भी तिरंगे का निःशुल्क वितरण करने की मांग की।

कामरेड सुधाकर ने कहा कि देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए भाकपा (माले) 9 से 15 अगस्त तक एक सप्ताह का देशव्यापी अभियान चलाएगी। नौ अगस्त को भारत छोड़ो दिवस की 80वीं वर्षगांठ पर आजादी मार्च निकाले जाएंगे और देश व संविधान को बचाने समेत शहीदों के सपनों का भारत बनाने का संकल्प लिया जाएगा।

माले नेता ने कहा कि 15 अगस्त को व्यापक रुप से तिरंगा फहराया जाएगा, शहीदों व स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी जाएगी और देश के संविधान की प्रस्तावना "हम भारत के लोग......" का सामूहिक पाठ किया जाएगा।

Next Story

विविध