Top
राजनीति

पुजारी की हत्या पर क्राउड फंडिंग जुटा रहे कपिल मिश्रा, लेकिन UP में दलित युवती से बर्बर गैंगरेप पर क्यों नहीं खुली जुबान

Janjwar Desk
10 Oct 2020 10:07 AM GMT
पुजारी की हत्या पर क्राउड फंडिंग जुटा रहे कपिल मिश्रा,  लेकिन UP में दलित युवती से बर्बर गैंगरेप पर क्यों नहीं खुली जुबान
x
कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी राजस्थान के करौली में पुजारी जी को जिंदा जलाने का वीभत्स हत्याकांड आपकी जानकारी में है, कृपया परिवार को आर्थिक सहायता व सरकारी नौकरी सुनिश्चित कीजिये, लगभग 25 लाख रुपये तो हम जनता ही इकट्ठा करके दे रही है......

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी से भारतीय जनता पार्टी में आए कपिल मिश्रा लगातार अपने बयानों और भड़काऊ भाषणों से हमेशा सुर्खियों में रहे हैं। फरवरी 2020 में जब सीएए विरोधी आंदोलन राजधानी दिल्ली में चरम पर थे तब उन्होंने उसके समानांतर सीएए समर्थक रैली निकाली। इस रैली में मिश्रा ने पुलिस अधिकारियों के सामने ही भड़काऊ बयान देते हुए पुलिस को चेतावनी दी जिसके कुछ घंटे के भीतर पूर्वोत्तर दिल्ली में दंगे शुरू हो गए।

वहीं जब उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर चौतरफा देशभर में आक्रोश था और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कानून व्यवस्था सवालों के बीच घिरी हुई, उसको लेकर कपिल मिश्रा ने अपनी जुबान नहीं खोली लेकिन राजस्थान में जमीन विवाद को लेकर पुजारी की हत्या को लेकर क्राउड फंडिंग जुटा रहे हैं।

पुजारी की हत्या के मुद्दे पर मिश्रा एक तरफ जहां राजस्थान की गहलोत सरकार पर हमलावर हैं, वहीं अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से क्राउड फंडिंग की अपील कर रहे हैं। एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'दोस्तों 50 साल के गरीब पुजारी को राजस्थान में जीवित जला दिया गया। परिवार चार छोटी बेटियां हैं, आइये पुजारी जी के परिवार को आर्थिक मदद करें।

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, '5 लाख रुपये एकत्र हुए। राजस्थान में जिंदा जलाए गए पुजारी जी के परिवार की मदद करने के लिए आइए, उनकी चार बेटियों को हमारे समर्थन की जरूरत है।'

कपिल मिश्रा ने लिखा, 'मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी राजस्थान के करौली में पुजारी जी को जिंदा जलाने का वीभत्स हत्याकांड आपकी जानकारी में है। कृपया परिवार को आर्थिक सहायता व सरकारी नौकरी सुनिश्चित कीजिये। लगभग 25 लाख रुपये तो हम जनता ही इकट्ठा करके दे रही है, आप तो सरकार है। न्याय सुनिश्चित करें।

एक अन्य ट्वीट कपिल मिश्रा ने लिखा, 'मैं कल उनके परिवार से मिलूंगा। दुनिया भर से पुजारी जी के परिवार के लिए मदद आ रही हैं।'

कपिल मिश्रा के ट्वीट्स पर यूजर्स तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, 'क्या दोगलापन है मतलब राजस्थान वाले पंडित के परिवार को कपिल मिश्रा रुपये दे तो इसे आर्थिक मदद मानी जायेगी और हाथरस वाली पीडिता के परिवार को कोइ आर्थिक मदद दे तो इसे दंगा भडकाने की सजिश मानी जायेगी।'

एक अन्य यूजर ने लिखा, कपिल मिश्रा..कयों न पुजारी को जलाने वालों के नाम बदल कर उर्दू भाषी कर दिये जायें ताकि देश जलाने का और हिन्दू ख़तरे में है का नारा लगाने का मौका मिले। बाकी इस झूठ को सौ बार बोल कर मीडिया सच साबित कर ही देंगे।

बता दें कि राजस्थान के करौली में एक मंदिर के 50 वर्षीय पुजारी को छह दबंगों द्वारा पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया। पुजारी ने मंदिर अधिकारियों की जमीन पर अतिक्रमण करने के प्रयास का विरोध किया था, जिसके बाद इस खौफनाक वारदात को अंजाम दे दिया गया। पुलिस ने शुक्रवार 9 अक्टूबर को यह जानकारी दी। बुरी तरह जले पुजारी ने एसएमएस अस्पताल में गुरुवार शाम को दम तोड़ दिया। करौली के एसपी मृदुल कच्छवा के अनुसार, पुलिस ने बुकना गांव में हुए अपराध के 24 घंटे के भीतर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Next Story

विविध

Share it